न्यूट्रोफिल  के कारण

उच्च न्यूट्रोफिल स्तर अकसर किसी संक्रमण के कारण होता है, लेकिन अन्य मेडिकल कंडीशन और निश्चित दवाइयां भी इसका कारण हो सकती हैं। कई बार शारीरिक और मानसिक तनाव या धूम्रपान के कारण भी न्यूट्रोफिल का स्तर  बढ़ जाता है...

न्यूट्रोफिल्स एक प्रकार की सफेद रक्त कणिकाएं होती हैं जो शरीर को संक्रमण से लड़ने के लिए शक्ति प्रदान करती हैं। उच्च न्यूट्रोफिल स्तर अकसर किसी संक्रमण के कारण होता है, लेकिन अन्य मेडिकल कंडीशन और निश्चित दवाइयां भी इसका कारण हो सकती हैं। कई बार शारीरिक और मानसिक तनाव या धूम्रपान के कारण भी न्यूट्रोफिल का स्तर बढ़ जाता है। हालांकि न्यूट्रोफिल का उच्च स्तर कोई गंभीर समस्या नहीं दर्शाता है, लेकिन फिर भी आपको डाक्टर से संपर्क  कर लेना चाहिए।

उच्च न्यूट्रोफिल स्तर के बाद टिपिकल स्टेज-

उच्च न्यूट्रोफिल स्तर का आइसोलेटेड इंटेंस हानिकारक नहीं माना जाता है। कई मामलों में स्तर अपने आप सामान्य हो जाता है और उसे किसी भी प्रकार के उपचार की आवश्यकता नहीं पड़ती है। यह सुनिश्चित करने के लिए आपका न्यूट्रोफिल स्तर सामान्य हो पाएगा या नहीं, इसके लिए डाक्टर से संपर्क कर लें। हो सकता है कि इसके लिए डाक्टर आपको कोई फालोअप ब्लड़ टेस्ट लिख दें।

अपने डाक्टर से संपर्क करें-

अगर आपका न्यूट्रोफिल ज्यादा है, तो अपने डाक्टर से संपर्क करें। इसकी जानकारी आपको ब्लड टेस्ट करवाने के बाद ही होगी कि आपका न्यूट्रोफिल कितना है। दवाइयों में स्टेरॉयड का सेवन करने पर अकसर न्यूट्रोफिल बढ़ जाता है। अगर आप ऐसे में डाक्टर को दिखाने जाते हैं तो उसे पूरी बात बताएं। क्या दवाई खाते हैं उसके पेपर दिखाएं और हाल ही में हुई बीमारी के बारे में भी बताएं।

अतिरिक्त टेस्ट-

ब्लड टेस्ट से यह पता चल जाता है कि आपके शरीर में न्यूट्रोफिल्स कितना है, लेकिन अगर डाक्टर को कोई संदेह होता है तो वह आपको अन्य टेस्ट करवाने को भी कह सकता है। इन के जरिये वह पता लगा सकता है कि आपके शरीर में किस प्रकार का संक्रमण है और आपको कैसा इलाज देना होगा।

उच्च न्यूट्रोफिल्स की निगरानी और देखभाल करना-

डाक्टर यह भी आब्जर्व करता है कि आपके शरीर में न्यूट्रोफिल्स की उच्च मात्रा कितने लंबे समय से है और यह किस तरह से सामान्य होगी। अगर वह किसी भी कारण के बिना ही उच्च है तो डाक्टर अन्य तरह के टेस्ट भी करवा सकते हैं।

 

Related Stories: