Saturday, August 08, 2020 04:56 PM

न थायराइड के टेस्ट, न ही बन रहे मेडिकल

सुजानपुर-सरकार आपने दर्जा तो बढ़ा दिया लेकिन मूलभूत सुविधाएं कब बढ़ेगी, इसका कोई पता नहीं है। जी हां हम बात कर रहे हैं सिविल अस्पताल सुजानपुर की जिसे पूर्व कांग्रेस सरकार ने कम्युनिटी हैल्थ सेंटर से बढ़ाकर सिविल हस्पताल बनाया था, लेकिन सिविल अस्पताल संबंधित सुविधाएं आज तक भी इस स्वास्थ्य केंद्र को नहीं मिल पाई हैं। आलम यह है कि वर्तमान में न तो यहां स्थायी रूप से आई स्पेशलिस्ट की तैनाती हुई है और थायराइड टेस्ट करने वाली मशीन खराब है। रोजाना मेडिकल बनाने वाले लोगों के साथ-साथ आंखों का निरीक्षण करने वाले रोगियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। समस्या विकराल है लेकिन इसका हल कोई नहीं निकाल रहा। बताते चलें कि सिविल अस्पताल सुजानपुर जिला हमीरपुर के लोगों के साथ-साथ जिला मंडी और जिला कांगड़ा के लिए एकमात्र निकटतम स्वास्थ्य केंद्र है। तीन जिलों की सुरक्षा का जिम्मा संभाले यह सिविल अस्पताल वर्तमान में खुद लाचार और बीमार पड़ा हुआ है। सबसे ज्यादा परेशानी गर्भवती महिलाओं को उठानी पड़ रही है, जिनका थायराइड टेस्ट यहां नहीं हो रहा जिसके लिए उन्हें बाहर निजी क्लीनिक में यह टेस्ट करवाना पड़ रहा है। इसके साथ-साथ नेत्र रोग विशेषज्ञ यहां न होने से इस पीड़ा से संबंधित रोगियों को रोजाना चक्कर पर चक्कर लगाकर अपना समय नष्ट करने वाला काम करना पड़ रहा है। नेत्र रोग विशेषज्ञ न होने से लाइसेंस बनाने के लिए लगने वाला मेडिकल भी नहीं बन पा रहा है, क्योंकि नियमानुसार मेडिकल बनाने से पहले आपको अपनी आंखें टेस्ट करवानी होंगी। उसकी रिपोर्ट अगर सही होगी तो ही आपका मेडिकल बनेगा, लेकिन ये आंखे कौन चैक करेगा इसका कोई पता नहीं है। जानकारी के अनुसार सुजानपुर में नेत्र रोग विशेषज्ञ डाक्टर है ही नहीं। वर्तमान में करोना काल से पहले यहां पर अन्य सब-डिवीजन से नेत्र रोग विशेषज्ञ डेपुटेशन पर आता था और निरीक्षण करके वापस हो जाता था, लेकिन जब से यह महामारी आई है, तब से नेत्र रोग विशेषज्ञ सिविल अस्पताल में नाममात्र ही पहुंचा लोगों को तमाम बातों को लेकर भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।  जब खंड स्वास्थ्य अधिकारी रमेश डोगरा से बात की तो उन्होंने बताया नेत्र रोग विशेषज्ञ का पद यहां रिक्त है अन्य स्वास्थ्य केंद्र से डाक्टर आता है, लेकिन वर्तमान में व्हीकल सुविधा ना होने से वह नहीं आ रहा थायराइड टेस्ट मशीन खराब है इसके बारे में अभी पता-चला है जिसे शीघ्र दुरुस्त करवाया जाएगा।

The post न थायराइड के टेस्ट, न ही बन रहे मेडिकल appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.