Saturday, July 04, 2020 05:41 PM

पगार रोकी, फिर नौकरी से बाहर

एटक ने फैक्टरी की मनमानी पर एसडीएमको सौंपा ज्ञापन

स्वारघाट-अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) ने एसडीएम स्वारघाट को सौंपा ज्ञापन ग्वालथाई की टाइडल लैब प्राइवेट लिमिटेड फैक्टरी की मनमानी और मजदूरों को प्रताडि़त करने के  खिलाफ कार्रवाई मांगी है। वहीं ज्ञापन में चेतावनी भी दी है कि अगर समस्या का समाधान न हुआ तो  संगठन को संघर्ष का रास्ता अपनाने के लिए मजबूर होने पड़ेगा जिसके लिए फैक्टरी प्रबंधन और प्रशासन जिम्मेदार होगा। ज्ञापन की प्रतिलिपि जिलाधीश बिलासपुर, एसपी बिलासपुर, लेबर कमिश्नर हिमाचल प्रदेश, श्रम अधिकारी बिलासपुर व डीएसपी नयनादेवी को भी प्रेषित की गई है। अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस ने ज्ञापन में टाइडल लैब प्राइवेट लिमटेड फैक्टरी ग्वालथाई के प्रबंधकों द्वारा कामगारों को लॉकडाउन की आड़ में प्रताडि़त किया जा रहा है जिसके चलते मजदूरों में भारी रोष व्याप्त है। लॉकडाउन के दौरान मजदूरों ने फैक्टरी प्रबंधन व प्रशासन को लिखित रूप में दिया था कि फैक्टरी को चलाने के लिए फैक्टरी को सेनेटाइर किया जाए और सभी सावधानियां बरती जाए, क्योंकि फैक्टरी में कुछ कामगार पंजाब से आते थे जिनके कारण कोई अनहोनी हो सकती थी। इसके बाद फैक्टरी प्रबंधन ने मजदूरों को तंग परेशान व प्रताडि़त करना शुरू कर दिया तथा न ही उन्हें अप्रैल 2020 का वेतन दिया गया है तो वहीं फैक्टरी में कार्यरत प्रदीप कुमार को बिना किसी कारण नौकरी से निकाल दिया गया द्य यूनियन ने आरोप लगाया है कि फैक्टरी प्रबंधन कानून को मानने की कोई प्रवाह नहीं करते हैं। यूनियन ने पुरजोर मांग की है कि उक्त मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत हस्तक्षेप किया जाए ताकि माहौल खराब न हो। वहीं यूनियन ने कहा है कि अगर समस्या का समाधान न होने पर संघर्ष का रास्ता अपनाने के लिए मजबूर होने पड़ेगा जिसके लिए फैक्टरी प्रबंधन और प्रशासन जिम्मेदार होगा।