Wednesday, April 24, 2019 05:54 AM

परमिशन लो, फिर करो सोशल मीडिया पर प्रचार

ऊना—लोकसभा चुनावों में इस बार सोशल मीडिया पर भी प्रचार करने के लिए राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों को परमिशन लेनी पड़ेगी। बिना अनुमति के कोई भी राजनीतिक दल के प्रत्याशियों को सोशल मीडिया पर भी अपना प्रचार-प्रसार नहीं कर पाएगा। चुनाव आयोग की ओर से इस बार सख्त रवैया अपनाया गया है, ताकि हर राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों की गतिविधि पर नजर रखी जाए। प्रदेश में लोकसभा चुनावों को लेकर सरगरमियां तेज हो गई हैं। अधिकतर चुनावों में राजनीतिक दल अपने प्रचार-प्रसार को लेकर सोशल मीडिया का सहारा लेते थे। इस बार लोकसभा चुनावों में राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों को सोशल मीडिया पर भी प्रचार करने के लिए निगरानी समिति की अनुमति लेनी होगी। यदि किसी राजनीतिक दल के प्रत्याशी द्वारा नियमों की अनेदखी की जाती है तो चुनाव आयोग की ओर से इसे लेकर सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं, इस बार आयोग ने नामांकन दाखिल करते वक्त उम्मीदवारों को अपने सोशल मीडिया अकाउंट का विवरण प्रस्तुत करना आवश्यक किया गया है। चुनाव आयोग फेसबुक, ट्विटर, यू-ट्यूब पर प्रत्याशी की गतिविधियों पर निगरानी रखेगा। इस बार सोशल मीडिया पर किसी प्रत्याशी द्वारा प्रचार करने पर विज्ञापन का खर्च भी उम्मदीवार के चुनावी व्यय में जुड़ेगा। बहरहाल, इस बार चुनाव आयोग ने सख्त रवैया अपनाया है। ताकि कोई राजनीतिक दल या फिर कोई प्रत्याशी अपनी मनमानी न कर सके।