Monday, July 22, 2019 01:14 AM

परिवार नियोजन का समझाया महत्त्व

 चंबा—स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की ओर से मेडिकल कालेज के मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केंद्र में विश्व जनसंख्या दिवस का कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. सुभाष चौहान ने की, जबकि संचालन स्वास्थ्य शिक्षिका निर्मला ठाकुर ने किया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य पर्यवेक्षिका नीलम गुप्ता व कौशल्या बख्शी, बीसीसी कोर्डिनेटर दीपक जोशी व जिला आशा वर्कर कोर्डिनेटर अनुबाला भी मौजूद रहे। स्वास्थ्य शिक्षिका निर्मला ठाकुर ने अपने संबोधन में विश्व की बढ़ती जनसंख्या के दुष्प्रभावों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आज विश्व की जनसंख्या सात अरब के पार हो चुकी है और जनसंख्या के आधार पर विश्व में चीन के बाद भारत का दूसरा नंबर आता है। भारत की जनसंख्या 135 करोड़ को पार कर चुकी है। ऐसे में अगर जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए कारगर कदम न उठाए गए तो वर्ष 2030 तक भारत की जनसंख्या चीन से अधिक हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इस वर्ष भारत की बढ़ती जनसंख्या को रोकने के लिए लोगों को परिवार नियोजन का महत्व समझाते हुए छोटे परिवार पर जोर दिया जा रहा है। जिला कार्यक्त्रम अधिकारी डा. सुभाष चौहान ने कहा कि इसी कडी में 28 जून से दस जुलाई तक दंपत्ति संपर्क पखवाडा मनाया गया। इसके तहत ग्रामीण स्तर पर लोगों से मुलाकात कर परिवार नियोजन के अस्थाई व स्थाई साधनों के बारे में जागरूक करने के साथ छोटे परिवार का महत्व समझाया गया।  कार्यक्त्रम के दौरान परिवार नियोजन के अस्थाई साधन का स्टाल भी लगाया गया। और इन साधनों के उपयोग बारे लोगों को जागरूक किया गया। कार्यक्त्रम में एमसीएच का स्टाफ व आशा वर्करों ने उपस्थिति दर्ज करवाई।