Thursday, October 01, 2020 12:06 AM

पशुपालकों ने जानी थनैला बीमारी

वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. यूएस पति ने जगाया अलख, स्थापना दिवस पर सजी संगोष्ठी

पालमपुर -भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, क्षेत्रीय केंद्र पालमपुर ने अपना 61वां स्थापना दिवस मनाया, जिसका शुभारंभ स्टेशन प्रभारी, मुख्य अतिथि, वैज्ञानिक गण एवं कवियों द्वारा ज्योति प्रज्वलन और सरस्वती वंदना के साथ किया। इसके बाद डा. गोरख मल, स्टेशन प्रभारी ने भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, क्षेत्रीय केंद्र, पालमपुर के इतिहास एवं उपलब्धियों के बारे में अवगत करवाया। तदोपरांत स्थापना दिवस पर पधारे मुख्य अतिथि डा. सुरेंद्र कुमार कपिल, उपनिदेशक (पशु उत्पादन), पशुपालन विभाग द्वारा संबोधन किया गया। उसके बाद डा. यूएस पति, वरिष्ठ वैज्ञानिक ने पशुओं में होने वाली थनैला बीमारी के बारे में विस्तार से पशुपालकों को अवगत करवाया एवं डा. रिंकु शर्मा, वरिष्ठ वैज्ञानिक ने पशुपालकों को पशुपालन एवं पौधों में विशाक्ता संबंधित जानकारी दी। उसके उपरांत स्थापना दिवस में राष्ट्रीय कवि संगम की ओर से आए हुए कवियों ने अपनी-अपनी कविताओं की प्रस्तुति दी। दोपहर बाद वैज्ञानिकों द्वारा किसानों एवं पशुपालकों के साथ किसान संगोष्ठी की, जिसमें लगभग 50 किसानों ने भाग लिया। स्टेशन प्रभारी द्वारा केंद्र की स्थापना का उद्देश्य और केंद्र की गतिविधियों से अवगत करवाया। डा. बीरबल सिंह, प्रधान वैज्ञानिक, डा. देवी गोपीनाथ, वैज्ञानिक एवं डा. गौरी जैरथ, वैज्ञानिक ने पशुपालकों के प्रश्नों के उत्तर देते हुए प्रजनन संबंधित जानकारी साझा की। अंत में स्थापना दिवस के अवसर पर स्टेशन प्रभारी द्वारा कवियों, किसानों और हिंदी स्थापना दिवस, 2019 के उपलक्ष्य पर चयनित प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। स्थापना दिवस के अंत में डा. रिंकु शर्मा, वरिष्ठ वैज्ञानिक ने सभी प्रतिभागियों एवं सभागार में उपस्थित श्रोतागणों का केंद्र की ओर से समारोह को सफल बनाने पर धन्यवाद किया।