Tuesday, October 15, 2019 09:00 AM

पशु फीड में मिलावट पर मिलेगा दंड

चराड़ा में डेयरी उद्यमिता विकास पर प्रशिक्षण शिविर के शुभारंभ अवसर पर बोले पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर

ऊना -ग्रामीण विकास, पंचायती राज, मत्स्य तथा पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज वशिष्ठ डेयरी फार्म चराड़ा में पशु पालकों के लिए डेयरी उद्यमिता विकास पर एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ किया। इस प्रशिक्षण शिविर में करमाली, जसाणा, अरलू व सुकडि़याल ग्र्राम पंचायत के किसानों ने भाग लिया और विशेषज्ञों से पशु पालन के गुर सीखे। किसानों को पशुओं के आहार, उनमें होने वाले रोगों की रोकथाम तथा पशु स्वास्थ्य के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। इस अवसर पर पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि प्रदेश सरकार पशु फीड में मिलावट करने को दंडनीय अपराध बनाने जा रही है। उन्होंने कहा कि कुछ कंपनियां पशु फीड में यूरिया की मिलावट कर रही है। जल्द ही इस बारे में सख्त कानून बनाया जाएगा और दोषी पाए जाने पर सजा का प्रावधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि फीड को जांचने के लिए प्रयोगशालाएं भी बनाई जाएगी, जहां पर फीड के सैंपल को जांचा जाएगा और दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि गरीब का जीवन स्तर सुधारने के लिए प्रदेश सरकार कई योजनाएं चला रही है। बकरियां व देसी गाय किसानों को सबसिडी पर दी जा रही है, ताकि किसानों की आय दोगुनी की जा सके और गरीब परिवारों को आजीविका का एक अच्छा साधन मिल सके। गरीब को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए बंगाणा उप मंडल के अंतर्गत कुल 2510 बीपीएल परिवारों में से 810 अति निर्धन परिवारों का चयन किया गया है, जिन्हें विभिन्न सरकारी विभाग मिलकर किसी न किसी स्वरोजगार की योजना के साथ जोड़ेंगे। इन परिवारों को कृषि, बागबानी, मत्स्य पालन तथा पशु पालन विभाग अपनी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से स्वरोजगार की गतिविधियों से जोड़ेंगे। इस अवसर पर वीरेंद्र कंवर ने 35 गरीब किसान परिवारों को सहजन, आंवला, हरड़ व भेड़ा के पौधे भी वितरित किए और स्वयं पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर कुटलैहड़ भाजपा महामंत्री चरणजीत शर्मा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विजय शर्मा, भाजपा जिला एससी मोर्चा अध्यक्ष सूरम सिंह, प्रदेश किसान मोर्चा के सचिव मदन राणा, सुरेंद्र हटली तथा पशु पालन विभाग के उपनिदेशक डा. जेएस सेन, वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी डा. सतिंद्र ठाकुर, डा. राजेश जंगा तथा डा. अभिनव सोनी सहित विभाग के अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।