Sunday, May 31, 2020 11:06 PM

पहने कपड़ों के सिवा सब राख

समैला के उखली मतोली में सिलेंडर फटते ही तबाही, पति-पत्नी झुलसे 

पटड़ीघाट -उपमंडल सरकाघाट में गत रात्रि सिलेंडर फटने से आग की भेंट चढ़े रिहायशी मकान व गोशाला के जलने से पीडि़त परिवार को लाखों का नुकसान हुआ है। पंचायत समैला के उखला मतोली गांव में चांदराम के रसोईघर में चूल्हे के निकट रसोई गैस का सिलेंडर न रखा होता, तो हादसे से बचा जा सकता था। इस हादसे में तीन लोग भी झुलस गए थे। हादसे के अगले दिन शुक्रवार को राख में परिजन अपनी बची हुई उम्मीदें तलाशते रहे। आग लगने के कारण अब पीडि़त परिवार के पास कुछ भी नहीं बचा है। घर में रखी उसकी पत्नी के  सोने के गहने, घर का सारा सामान, 20 हजार रुपए नकदी, बच्चों की किताबें और अनाज सहित सब कुछ स्वाह हो गया है। चांदराम, उसकी पत्नी व वृद्ध माता व तीन लड़कियां और एक लड़का कुल मिलाकर सात लोग बेघर हो गए। इनके पास पहने हुए कपड़ों के सिवा कुछ नहीं बचा है। इस घटना में पीडि़त परिवार को दस लाख रुपए का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है। गनीमत रही कि  ग्रामीणों ने जब चांदराम और उसकी पत्नी को झुलसी हालत में देखा तो उन्हें समय रहते सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बलद्वाड़ा पहुंचा दिया। हालांकि शुक्रवार को चांद राम की पत्नी को नेरचौक मेडिकल कालेज भेज दिया गया है। उधर, प्रशासन की ओर से तहसीलदार बलद्वाड़ा जगदीश चंद द्वारा दस हजार रुपए की तत्काल राहत दी है और बताया कि राजस्व विभाग के कर्मचारी आगजनी से हुई क्षति का आकलन करने में लगे हैं तथा राजस्व मैनुअल के अनुसार राहत राशि दी जाएगी। बता दें कि गुरुवार की रात आठ बजे के लगभग अचानक चूल्हे की आग से गैस सिलेंडर में आग लग गई थी, जिससे प्रभावित परिवार का सारा घर और गोशाला भी जल गई। छह कमरों का स्लेटपोश मकान पल भर में राख हो गया था। क्षेत्र के लोगों ने दानी सज्जनों से पीडि़त परिवार की हर संभव सहायता करने का आग्रह किया है।