Monday, December 16, 2019 05:55 AM

पहले भरमाणी, फिर डल में डुबकी

मणिमहेश यात्रा से पहले उमड़ने लगी आस्था,हर रोज दर्शनों के लिए पहुंच रहे 200 भक्त

भरमौर -उत्तरी भारत की प्रसिद्ध मणिमहेश यात्रा के आधिकारिक तौर पर आरंभ होने से पहले ही शिवभक्तों की संख्या में इजाफा होने लगा है। इन दिनों रोजाना करीब 200 की संख्या में शिवभक्त भरमाणी माता मंदिर होते हुए डल झील की ओर रुख कर रहे हैं। वहीं, यात्रा को लेकर विभिन्न पड़ावों पर लगने वाली अस्थायी दुकानें भी सज गई हैं। इसके अलावा हड़सर में भी इन दिनों रौनक देखने को मिल रही है। कुल-मिलाकर मणिमहेश यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं की संख्या में ईजाफा हो रहा है। इसके साथ ही वाया कुगती होकर भी काफी संख्या में श्रद्धालु परिक्रमा यात्रा कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि पवित्र मणिमहेश यात्रा का आधिकारिक तौर पर आगाज 24 अगस्त को होगा। यात्रा को लेकर उपमंडलीय प्रशासन भी तैयारियों में जुटा हुआ है। जबकि हड़सर से डल झील तक के पैदल रास्ते की मरम्मत का कार्य भी लोक निर्माण विभाग ने लगभग पूरा कर लिया है। इसके अलावा सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग भी यात्रा के विभिन्न पड़ावों पर पेयजल व्यवस्था को करने में जुटा हुआ है। उधर, यात्रा पर श्रद्धालुओें के आने का क्रम पिछले करीब डेढ माह से आरंभ हो चुका है और अब तक हजारों की संख्या में शिवभक्त डल झील पहंुचकर आस्था की डुबकी भी लगा चुके हंै। मौजूदा समय में श्रद्धालुओं की संख्या में एकाएक वृद्धि भी हो गई है, जिसके चलते स्थानीय लोगों को भी आगामी दिनों में यहां बेहतर कारोबार की आस जगी है। मणिमहेश यात्रा के अहम पडाव भरमाणी माता मंदिर में भी इन दिनों भारी संख्या में लोग पहंुच रहे हंै। हडसर में भी इन दिनों रौनक देखने को मिल रही है। जाहिर है कि हर वर्ष जन्माष्टमी से राधाष्टमी पर पवित्र मणिमहेश यात्रा का आधिकारिक तौर पर आयोजन होता है, जिसमें लाखों की संख्या में शिवभक्त देश के कोने-कोने से पहंुचकर डल झील में आस्था की डुबकी लगाते है।