Wednesday, April 24, 2019 05:22 AM

पहले ही प्रयास में पाई कामयाबी

संगड़ाह —उपमंडल संगड़ाह के अंतर्गत आने वाले दूरदराज गांव घरडि़या के 23 वर्षीय होनहार विश्वमोहन देव चौहान एचएएस प्रॉपर परीक्षा पास कर क्षेत्र के अन्य छात्रों के लिए प्रेरणा स्रोत बने हैं। गांव के समीपवर्ती मां भगवती स्कूल हरिपुरधार से प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने वर्ष 2017 में उद्यान एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी से बीएससी की। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की जेआरएफ परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके विश्वमोहन वर्तमान में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से हॉर्टिकल्चर में एमएससी कर रहे हैं तथा पढ़ाई के लिए उन्हें छात्रवृत्ति मिल रही है। हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवाएं के नतीजों के मुताबिक 12वां रैंक हासिल कर एसडीएम नियुक्त हुए हैं। उनके पिता जीवन सिंह आईपीएच विभाग में बतौर पंप आपरेटर कार्यरत हैं, जबकि मां कमला देवी गृहिणी हैं। इस छात्र की कामयाबी से क्षेत्रवासी व उनके  करीबी काफी उत्साहित हैं। विश्वमोहन ने कहा कि वह अपनी कामयाबी का श्रेय माता-पिता, गुरुजनों, एक सेवानिवृत्त एचएएस को देते हैं। उन्होंने कहा कि उनके संबंधी एवं पूर्व अधिकारी हृदय राम चौहान ने उन्हें इस परीक्षा के लिए काफी प्रोत्साहित किया। उनका अगला लक्ष्य आईएएस की परीक्षा है। बीएचयू में पढ़ने वाले वह क्षेत्र के पहले छात्र हैं। बहरहाल विश्वमोहन देव ने यह कामयाबी हासिल कर प्रदेश भर में नाम रोशन किया है। इससे उनके गांव में खुशी की माहौल है।