Tuesday, August 20, 2019 11:56 AM

पहाड़ों के पहाड़ खा गया माफिया, खड्डें भी लूटीं

ऊना में 86 खनन पट्टे और 38 स्टोन क्रशर उद्योग होने के बाद खनन माफिया बेलगाम, ग्रामीणों ने प्रशासन से लगाई गुहार

ऊना -ऊना में जिला प्रशासन की कड़ी कार्रवाई के बावजूद खनन का अवैध कारोबार खूब फलफूल रहा है। जेसीबी मशीनों से स्वां नदी व खड्डों का सीना छलनी किया जा रहा है तो पहाड़ों के पहाड़ समतल कर दिए गए हैं। 86 खनन पट्टे और 38 स्टोन क्रशर उद्योग होने के बावजूद भी अवैध खनन जारी है। अवैध खनन को रोकने के लिए जिला खनन विभाग ऊना ने भी कड़ी कार्रवाई करते हुए विगत चार माह में करीब अढ़ाई सौ चालान काटकर 26 लाख से अधिक का राजस्व कर जुटाकर राजकोषीय खाते में डाला है। चार महीनों में ही खनन विभाग ने जिला खनन अधिकारी परमजीत सिंह के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए खनन विभाग की टीमों ने पहली अप्रैल से लेकर 31 जुलाई तक 243 चालान काटकर 26 लाख 22 हजार 318 रुपए जुर्माना वसूला है। जिला खनन अधिकारी परमजीत सिंह ने बताया कि क्रशर उद्योग संचालकों व खनन पट्टों के मालिकों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि अवैध खनन को किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला में तीन स्टोन क्रशर उद्योगों को नियमों की अवहेलना करने पर बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। ये क्रशर उद्योग विभागीय औपचारिकताएं पूरी नहीं कर पा रहे थे, जिन्हें अब बंद किया गया है। जिला खनन अधिकारी ने विभाग के फील्ड इंस्पेक्टरों को भी निर्देश दिए हैं कि अवैध खनन पर पूरी तरह से नजर रखें। अगर कहीं अवैध खनन हो रहा है तो तुरंत उस पर कार्रवाई करें और रिपोर्ट दें। उन्होंने कहा कि प्रकृति के साथ हो रहे इस खिलवाड़ को अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पड़ोसी राज्य पंजाब के साथ सटी सीमाओं पर ज्यादातर अवैध खनन के मामले सामने आ रहे हैं। इस पर काबू पाने के लिए मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा। उन्होंने अन्य विभागों से भी इसमें सहयोग करने की अपील की है।

क्या कहते हैं अधिकारी

जिला खनन अधिकारी परमजीत सिंह ने बताया कि सभी क्रशर उद्योगों को पौधे लगाने के निर्देश भी दिए हैं। पौधे लगाने के साथ-साथ इनकी देखभाल की जिम्मेदारी भी सौंपी गई है। क्रशर संचालक उद्योग व इसके आसपास हरियाली को बढ़ावा देने के लिए पौधे रोपित करें। इनका निरीक्षण विभाग द्वारा किया जाएगा।