Friday, December 13, 2019 07:16 PM

पहाड़ों पर ठिठुर रहे बेसहारा 180 पशु पहुंचाए गोसदन

कुल्लू -नगर परिषद कुल्लू ने गो रक्षा का संदेश ग्रामीणों को तब दिया, जब दोहरानाला और पाहनाला क्षेत्र से होकर पहाड़ में ठंड से कांप रहे बेसहारा पशुओं को एकत्रित कर लाया और गोसदन कुल्लू में बेसहारा पशुओं को शरण दी।  नगर परिषद कुल्लू के सुपरवाइजर प्रेम चंद शर्मा के नेतृत्व वाली दस सदस्यीय टीम ने मंडी और कुल्लू की सीमा को जोड़ने वाली मुंजल जोत से 180 के करीब बेसहारा पशुओं को कुल्लू गोसदन पहुंचाया। इन पशुओं में जहां कुछ पशु नगर परिषद कुल्लू ने जून माह में मुंजल जोत की चारागाह पहुंचा रखे। इसकी देखरेख के लिए बाकायदा तीन कर्मचारियों को तैनात कर रखा। वहीं, नगर परिषद की इस टीम ने इन पशुओं के साथ-साथ अन्य पशुओं को गोसदन के लिए लाया, जो बर्फीली पहाड़ी में ठंड से ठिठुर रहे थे। टीम जोत में सभी पशुओं को ढूंढने के लिए दो दिन बर्फीली हवाओं में रहे। सोमवार देर रात तक इस टीम ने पशुओं को गोसदन कुल्लू पहुंचाया गया। इसके बाद इन बेसहारा पशुओं की देखभाल कुल्लू गोसदन में होगी। जोत से पशुओं को गोसदन लाने के लिए टीम का नेतृत्व करने वाले सुपरवाइजर प्रेम चंद शर्मा ने कहा कि जोत में काफी ठंड थी। दो दिन टीम को सभी पशुओं को एकत्रित करने में लग। जब सारे पशु एक जगह इक्ट्ठा किए गए तो उसके बाद सभी को जिला मुख्यालय स्थित गोसदन में पहुंचा दिया गया है। लिहाजा, नगर परिषद कुल्लू ने इस कार्य को पूर्ण कर पुण्य कमाया है।