Wednesday, August 12, 2020 06:28 AM

पहाड़ों पर बर्फबारी, बारिश से भीगे मैदान

चौहारघाटी-छोटा भंगाल में 15 सेंटीमीटर बर्फ

बरोट- चौहारघाटी व छोटा भंगाल क्षेत्र में गुरुवार सुबह से हिमपात का दौर शुरू हो गया है। क्षेत्र के गांवों में गुरुवार शाम तक चार सेंटीमीटर से 15 सेंटीमीटर तक हिमपात हो चुका है, जिसके चलते क्षेत्र में कुछ बसों के रूट बंद रहे। इन दिनों शीतकालीन सत्र के स्कूलों में वार्षिक परीक्षाएं चल रही हैं। बारिश व बर्फबारी के चलते बच्चों को परीक्षा केंद्र तक पहुंचने के काफी परेशानी झेलनी पड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार क्षेत्र के रोलिंग, पंजोड, लछयांन, राज गुंधा, ख्लेह्ल, धरमान, मलाह,  कोली रोलिंग, भुजलिंग, लोहारडी, पोलिंग, छेरना, खड़ी मलाह, सरमान, नेर फुग्नी माता,  स्वाड में चार सेंटीमीटर से 15 सेंटीमीटर बर्फ पड़ चुकी है।  बर्फबारी के कारण मुल्थान बरोट से कोठी कोढ़ बड़ा गांव बस नही चली।

माता शिकारी की ओर न जाएं पर्यटक

जंजैहली । क्षेत्र में लगातार बारिश और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी शुरू हो गई है। गुरुवार सुबह से माता शिकारी, बूढाकेदार, शैटाधार, मगरूगला, रायगढ़, तुगांसीगढ और भुलाह में इस सीजन का तीसरा हिमपात है। अगर रातभर मौसम का मिजाज यूं ही रहा, तो निचले क्षेत्रों में जंजैहली कटारू, रैलचाक, थुनाग, बगस्याड, कांढा में भी बर्फबारी हो सकती है। हालांकि मंडी-जंजैहली वाया छतरी सड़क मार्ग जंजैहली से आगे चिमटी तक चालू है, लेकिन अधिक बर्फबारी के कारण छतरी के लिए और अन्य संपर्क सड़क मार्ग बागा चनोगी चिऊणी भी अवरुद्ध हो चुका है। स्थानीय प्रशासन उपमंडल अधिकारी थुनाग सुरेंद्र मोहन ने स्थानीय लोगों और बाहर से आने वाले पर्यटकों को माता शिकारी और ऊंची चोटियों की तरफ  न जाने की सलाह दी है।

शैटाधार में पांच इंच तक हिमपात

थुनाग । गुरुवार को सराजघाटी के माता शिकारी, शैटाधार, स्पेहनीधार, तुगासीगढ़, चेत, कश्मीरधार, मगरूगला, भुलाह, घाट, डाहर आदि क्षेत्रों में सुबह से हिमपात हुआ। हिमपात के चलते पूरी सराजघाटी ठंड की चपेट में आ गई है। जहां माता शिकारी में आठ इंच तक हिमपात हुआ, वहीं शैटाधार में पांच इंच हिमपात हुआ। वहीं पूरा दिन बर्फबारी व बारिश होने की वजह से समूची घाटी ठंड की चपेट में आ गई है। जहां लोगों ने दिनभर आग का सहारा लिया, वहीं इस बर्फबारी के चलते किसान और बागवानों ने राहत की सांस ली है। वहीं बारिश मटर, गेंहू, जौ व सेब की फसल के लिए संजीवनी बनकर बरसी है।

बारिश से ठंड की चपेट में आया धर्मपुर

धर्मपुर । पिछले दो दिन से मौसम ने करवट बदल ली है। सूर्य को बादलों ने अपनी ओट में छिपा लिया है। गुरुवार सुबह पांच बजे से ही बूंदाबांदी शुरू हो गई, जो कि दिन भर चलती रही। जिस कारण पूरा क्षेत्र ठंड की चपेट में आ गया है। मौसम की यह बारिश जहां फसल के लिए लाभदायक है, वहीं पशु पालकों को चारा लाने में बाधक है। बारिश के कारण स्कूली बच्चों, नौकरीपेशा व बड़े बुजुर्गों को परेशानी झेलनी पड़ी।  ठंड के कारण लोग घरों में दुबके रहे और आग सेंकते नजर आए।

बर्फबारी से छतरी-मगरूगला सड़क बंद

थुनाग । सराजघाटी में बर्फबारी के चलते छतरी-मगरूगला सड़क मार्ग बंद हो गया है, जिसके चलते लोगों को आने-जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ा। प्रशासन की ओर से एसडीएम थुनाग सुरेंद्र मोहन ने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि कोई भी पर्यटक और स्थानीय लोग ऊंचाई वाले स्थानों में न जाएं। उन्होंने लोगों से सुरक्षित जगहों पर रहने का आह्वान

किया है।