Wednesday, June 26, 2019 11:13 AM

पांच माह बाद लाहुल में दौड़ेगी एचआरटीसी

केलांग—शेष विश्व से कटे लाहुल-स्पीति में जल्द ही एचआरटीसी दौड़ेगी। प्रशासन ने जहां बीआरओ की मदद से केलांग-उदयपुर मार्ग को बहाल कर दिया है, वहीं पीडब्ल्यूडी के कर्मी भी अन्य सड़कों की बहाली का कार्य युद्ध स्तर पर चलाए हुए हैं। ऐसे में एचआरटीसी के अधिकारियों का दावा है कि जल्द ही लाहुल घाटी में निगम की बसों की सुविधा लोगों को मिलेगी। भारी बर्फबारी के कारण गत पांच माह से जहां लाहुल में गाडि़यों की रफ्तार पर ब्रेक लगी हुई है, वहीं मौसम के खुलने के बाद इन घाटी की सड़कों की बहाली का कार्य भी प्रशासन ने युध स्तर पर शुरू किया है। ऐसे में जहां केलांग-उदयपुर मार्ग पर इसी सप्ताह बस सेवा बहाल करने की योजना निगम प्रबंधन ने बनाई है, वहीं घाटी के अन्य रूटों पर भी जल्द ही एचआरटीसी की बसें दौड़ेंगी। एचआरटीसी के केलांग डिपो के क्षेत्रीय प्रबंधक मंगल चंद मनेपा ने बताया कि गुरुवार को केलांग डिपो की एक टीम को हेलिकाप्टर के माध्यम से लाहुल पहुंचाया गया है। उन्होंने बताया कि केलांग अड्डा प्रभारी सोहन लाल के नेतृत्व में चुनी लाल सब इंस्पेक्टर, जगदीश कुमार, रमेश कुमार, चालक गोपाल सिंह, रिखिकेश, हेम सिंह, डूर सिंह, अनिरुद्ध, संजय, सुनील, राम सिंह व शिव लाल केलांग पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि निगम के कर्मियों की उक्त टीम जिला प्रशासन के साथ मिल जल्द ही घाटी की सड़कों का निरीक्षण करेंगी और घाटी में बस सेवा को बहाल करेगी। उन्होंने बताया कि हालांकि गत वर्ष घाटी में कम बर्फबारी के कारण आठ मार्च से बस सेवा बहाल कर दी गई थी, लेकिन इस वर्ष घाटी में भारी बर्फबारी हुई है, जिस कारण एक माह देरी से बस सेवा लाहुल में शुरू होने जा रही है। श्री मनेपा ने बताया कि पांगी के लिए चालक-परिचालक, टेक्निकल स्टाफ सहित 20 लोगों की टीम तैयार है। उन्होंने बताया कि आवासीय आयुक्त पांगी से हिमाचल पथ परिवहन निगम के कर्मचारियों के लिए विशेष हेलिकाप्टर सेवा के लिए पत्राचार किया गया है, ताकि घाटी में शीघ्र बस सेवा को शुरू किया जा सके। उन्होंने कहा कि लाहुल के मौसम में अब बदलाव हो गया है और बर्फबारी का दौर थम गया है। ऐसे में इन घाटी की सड़कों के बहाल करने का कार्य भी युद्ध स्तर पर शुरू किया गया है। लिहाजा निगम का प्रयास है कि जल्द से जल्द लाहुल में एचआरटीसी की बसों को दौड़ा दिया जाए। यहां बता दें कि सर्दियों में जहां लाहुल-स्पीति करीब छह माह के लिए शेष विश्व से कटा रहता है, वहीं एचआरटीसी का केलांग डिपो को भी कुल्लू से ही आपरेट किया जाता है। ऐसे में निगम की कुछ बसें जहां केलांग स्थित एचआरटीसी की वर्कशॉप में पार्क की जाती हैं, वहीं कुछ बसों को कुल्लू पहुंचाया जाता है और केलांग डिपो कुल्लू से अपनी बस सेवाओं को प्रदेश व बाहरी राज्यों के लिए चलाता है। बहरहाल पांच माह बाद लाहुल में एचआरटीसी की सेवा लोगों को मिलने जा रही है।