Sunday, November 17, 2019 03:19 PM

पांवटा में ‘नाटी सिरमौर वालिए…’

यमुना शरद महोत्सव की दूसरी सांस्कृतिक संध्या में हिमाचली लोक गायक-बालीवुड कलाकारों ने नचाए लोग

पांवटा साहिब - पांवटा साहिब में आयोजित हो रहे राज्य स्तरीय यमुना शरद महोत्सव की दूसरी सांस्कृतिक संध्या में हिमाचली लोक गायक व बालीवुड में आने वाली मूवी वनरक्षक में गायकी के क्षेत्र में एंट्री कर चुके नाटी किंग कुलदीप शर्मा ने जबरदस्त ढमाका लगाया। उन्होंने अपने कार्यक्रम की शुरुआत गुरु वंदना के बाद जैसे ही अपने प्रसिद्ध गीत लागा ढोलो रा ढमाका म्हारा हिमाचलो बड़ा बांका से की तो दर्शकों में उत्साह गजब का झलक उठा। सभी अपने-अपने स्थान पर उठकर नाचने लगे। इसके अलावा नाटी सिरमौर वालिए से देश-विदेश में ख्याति पा चुके सिरमौर के लोक गायक अजय चौहान ने भी अपनी प्रस्तुति से खूब तालियां बटोरी। इसके अतिरिक्त युवा सिंगर सुमित सैणी, मुस्कान ठाकुर और सुख्खी तुंबीवाला ने भी बेहतरीन प्रस्तुति देकर दर्शकों को आनंदित किया। दूसरी सांस्कृतिक संध्या का एसपी सिरमौर अजय कृष्ण शर्मा ने मां यमुना की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उसके बाद आयोजन समिति ने उन्हें शॉल, टोपी और स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इसके बाद कार्यक्रमों का दौर शुरू हुआ। स्थानीय कलाकारों की प्रस्तुति में पांवटा की उभरती डांसर विनिता वर्मा ने पानी री टांकी और बिमला गीत पर पहाड़ी नाटी प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। स्थानीय गायक विशाल तोमर ने अपनी सुरीली आवाज में ‘दर्दे दिल, दर्दे जिगर दिल में जगाया आपने’ गीत गाकर आशिकों के अरमान जगाए। सुनीता देवी ने आया मौसम तेरे-मेरे प्यार दा गीत की प्रस्तुति दी। उसके बाद स्टार कलाकारों की परफार्मेंस शुरू हुई, जिसमें सबसे पहले नाटी सिरमौर वालिए गीत से जबरदस्त ख्याति प्राप्त कर चुके सिरमौर के गिरिपार के युवा गायक अजय चौहान ने अपनी प्रस्तुति दी। उन्होंने गांव रे छोकरे टशनी बड़े गीत से अपने कार्यक्रम का आगाज किया। उसके बाद उन्होंने नाटी सिरमौर वालिये गीत सहित हो रोहड़ू वालिये आदि गीत गाकर खूब तालियां बटोरी। उसके बाद वायस ऑफ  हिमालया विनर मुस्कान ठाकुर ने ‘चुराया है मैंने किस्मत की लकीरों से, माही वे मोहबब्तां सखियां, मेरे रशके कमर तूने पहली नजर’ आदि फिल्मी गीत गाकर अपनी सुरीली आवाज से सभी को आनंदित किया। फिर करीब पौने नौ बजे पंजाबी गायक सुख्खी तुबीवाला ने स्टेज संभाला। उन्होंने स्वेग यार दा, सूरमा पंजाब दा, गुड़ नाल इश्क मीठा, पावां दी जांझर आदि गीत गाकर दर्शकों को झुमाया। नौ बजे वॉयस ऑफ इंडिया विजेता सुमित सैणी मंच पर पहुंचे। उन्होंने किन्ना सोहणा तैणू रब ने बनाया जी करे देखदा रवां, ओ रे पिया उड़ने लगा मन, मेरे रश्के कमर तूने पहली नजर, तौबा तौबा ये तेरी सूरत, तेरी जुगणी, मितरां दी यारियां, सौण दी झड़ी नी लगी आदि एक के बाद एक बेहतरीन गाने गाकर अपनी सुरीली आवाज का जादू बिखेरा। उन्होंने आधे घंटे तक दर्शकों का खूब मनोरंजन किया। कार्यक्रम के अंत में स्टार नाइट के स्टार गायक नाटी किंग कुलदीप शर्मा साढ़े नौ बजे मंच पर पहुंचे तो पंडाल सीटियों और तालियों से गूंज उठा। कुलदीप शर्मा ने गुरु वंदना के बाद अपने चिरपरिचित अंदाज में लागा ढोलो रा ढमाका म्हारा हिमाचलो बड़ा बांका गीत की प्रस्तुति दी तो दर्शक अपने स्थान पर खड़े होकर झूमने लगे। उसके बाद उन्होंने प्यारिए रूपमतिये, घणी ए केलोई, शिल्पा शिमला वालिये, ठेकेदारनिये, ऐसी मुजरे जुगो जमाना आदि सहित अपने कई प्रसिद्ध तरानों की प्रस्तुति देकर दर्शकों को खूब आनंदित किया।