Monday, November 18, 2019 05:21 AM

पाकिस्तान का परमाणु युद्ध

-रूप सिंह नेगी, सोलन

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का परमाणु युद्ध की गीदड़ भपकी के पीछे उस की हताशा एवं बौखलाहट साफ  झलकती है क्योंकि वह चारों तरफ  से घिर चुका है। पाकिस्तान को एक आखिरी बार यह याद दिलाना होगा कि 1947-48, 1965, 1971 और 1999 कारगिल युद्धों में उसे कितनी शर्मनाक शिकस्त हुई थी। इतना ही नहीं बल्कि पश्चिमी पाकिस्तान से भी हाथ धोना पड़ा था। पाकिस्तान की भलाई इसी में है कि वह भारत मे आतंकवादी भेजना बंद करे।