Tuesday, May 21, 2019 03:16 PM

पाकिस्तान के खिलाफ खौल उठा खून, हमीरपुर में हल्ला

हमीरपुर—जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के विरोध में शुक्रवार को गांधी चौक पर आतंकवाद का पुतला जलाया गया। छात्र संगठनों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए तथा सरकार ने इस आतंकी हमले का मुंहतोड़ जवाब देने की मांग की। इसके साथ ही शहीद होने पर 42 वीर जवानों के परिवारों को हर मूलभूत सुविधा प्रदान करने की अपील की गई। शुक्रवार को एनएसयूआई, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद व डीवाईएफआई के कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान भारत माता की जय तथा पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगे। छात्र संगठनों ने शहीद हुए जवानों की आत्म शांति के लिए एक दीया शहीदों के नाम जलाया। गांधी चौक पर दीप जलाए शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान आतंकवाद का पुतला जलाकर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए गए। ‘तेरा वैभव अमर रहे मां हम दिन चार रहे न रहे’ से पूरा वातावरण जोश से भर गया। जाहिर है कि बीते गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिला में एक बड़े आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 42 जवान शहीद हो गए। बताया जा रहा है कि यह हमला अब तक का सबसे बड़ा हमला है। । इसी के चलते शुक्रवार को छात्र संगठनों ने आतंकवाद को मुंहतोड़ जवाब देने की सरकार से मांग की। डीवाईएफआई के राज्याध्यक्ष अनिल मनकोटिया ने कहा कि यह हमला निंदनीय है। उन्होंने कहा कि आज कई घरों में मातम पसरा हुआ है। शहीदों के परिजनों को हरसंभव मदद सरकार को देनी चाहिए।

पाकिस्तान के खिलाफ मांगी कड़ी कार्रवाई

भोटा। पुलवामा आतंकी हमले मंे शहीद हुए 40 जवानांे को टौणभराड़ी विश्राम गृह मंे जिला भूतपूर्वक सैनिक प्रकोष्ठ द्वारा श्रद्धांजलि दी गई। भूतपूर्वक सैनिकों ने इस घटना की कड़ी निंदा की। उन्हांेने भारत सरकार से मांग की है कि तुरंत पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि सभी भूतपूर्व सैनिक सरकार के साथ हंै।

ऐसा सबक सिखाओ, दोबारा हिम्मत न हो

नादौन। राजपूत कल्याण सभा की बैठक का आयोजन नादौन में संगठन के अध्यक्ष ठाकुर अवतार सिंह की अध्यक्षता में किया गया। राजेंद्र परमार ने बताया कि इस दौरान पुलवामा में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की गई। अब वक्त आ गया है कि पाकिस्तान को ऐसा सबक सिखाया जाए, ताकि दोबारा ऐसा न हो सके। इस दौरान शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई।