Friday, November 16, 2018 11:14 PM

पाक के सिवा बुलाए 60 देश

दिल्ली में 17 को होने वाले सम्मेलन के लिए संघ ने भेजा न्योता

नई दिल्ली— राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने अगले हफ्ते से दिल्ली में शुरू हो रहे अपने कार्यक्रम में 60 देशों के प्रतिनिधियों को शामिल होने का न्योता भेजा है। खास बात यह है कि इसमें भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का नाम शामिल नहीं है। संघ प्रमुख मोहन भागवत इस कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। इस दौरान वह लोगों के सवालों का जवाब भी देंगे। खबर के अनुसार इस लेक्चर सीरीज में आरएसएस देश की तमाम राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों के साथ उन क्षेत्रीय पार्टियों को भी आमंत्रित करेगी, जिनकी राज्यों में पकड़ है, और वे आरएसएस की लगातार आलोचना करते रहते हैं। डिप्लोमेटिक मिशन और राजनीतिक पार्टियों के अलावा संघ अपने इस कार्यक्रम में उद्योग जगत, मीडिया और अन्य क्षेत्र के प्रतिनिधियों को भी बुलावा भेजेगा। आरएसएस के एक सदस्य ने बताया कि, पाकिस्तान के अलावा एशिया के ज्यादातर देशों के दूतावासों को आमंत्रण भेजा जाएगा। पाकिस्तान को इसलिए इससे दूर रखा गया है, क्योंकि वह आतंकवाद का समर्थन करता है, सीमा पर भारतीय जवानों की हत्या करता है। साथ ही भारत के साथ उसके रिश्ते तनावपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि चीन के दूतावास को इस कार्यक्रम में बुलावा भेजा जाएगा, क्योंकि भारत और चीन में काफी संस्कृतिक समानताएं हैं। बता दें कि दिल्ली में 17 सितंबर से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तीन दिन के लेक्चर सीरीज की शुरुआत हो रही है। यह कार्यक्रम 17 से 19 सितंबर तक विज्ञान भवन में आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में मोहन भागवत संघ के विचार को रखेंगे। साथ ही मौजूदा समय में राष्ट्रीय हित के परिप्रेक्ष्य में कई समकालीन मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट करेंगे। उल्लेखनीय है कि संघ का यह पहला ऐसा कार्यक्रम होगा, जिसमें वह सीधे तौर पर जनता से मुखातिब होगी।