Monday, September 16, 2019 07:33 AM

पाक से अब सिर्फ पीओके पर बात

राजनाथ सिंह की चेतावनी, पड़ोसी को खत्म करना ही होगा आतंकवाद

पंचकुला - जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने से बौखलाए पाकिस्तान को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चेतावनी देते हुए साफ किया है कि पाकिस्तान से अब जो भी बात होगी वह पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) पर होगी। बता दें कि रक्षा मंत्री ने रविवार को हरियाणा के कालका में एक जनसभा में यह बात कही, जबकि पाकिस्तान को इस बात का डर पिछले कई दिनों से सता रहा था। हाल ही में ऐसी खबरें आईं थीं कि इमरान खान सरकार को डर लग रहा है कि अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाए जाने के बाद भारत अब पीओके में बालाकोट से भी बड़ी कार्रवाई कर सकता है। राजनाथ सिंह ने कहा कि पुलवामा में हमारे बहादुर सुरक्षाबलों के साथ जो हुआ, उसके बाद 56 इंच के सीने वाले हमारे प्रधानमंत्री ने फैसला कर लिया कि ईंट का जवाब पत्थर से देंगे। आपने देखा कि एयरफोर्स के हमारे जवान बालाकोट में जाकर आतंकियों का सफाया करने में कामयाब रहे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के पीएम पहले कहते थे कि कुछ नहीं हुआ है, एक आदमी भी नहीं मरा, अभी पीओके में खड़े होकर कह रहे थे कि भारत बालाकोट एयर स्ट्राइक से भी बड़ी स्ट्राइक करने के बारे में सोच रहा है। इससे साफ है कि पाक पीएम ने भी स्वीकार कर लिया है कि बालाकोट में भारत ने बड़ी तबाही मचाई थी। विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा की जन आशीर्वाद रैली को हरी झंडी दिखाने से पहले राजनाथ सिंह एक सभा को संबोधित कर रहे थे। पाकिस्तान पर अटैक करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद हमारा एक पड़ोसी है, जो दुबला हुआ जा रहा है। उसका हाजमा खराब हो गया है। अब वह दुनिया के देशों का दरवाजा खटखटा रहा है कि हमें बचा लीजिए। हमने क्या अपराध कर दिया? वह रुक-रुककर धमकी भी दे रहा है, लेकिन जिसे लोग दुनिया का सबसे ताकतवर मुल्क मानते हैं अमरीका, वहां के राष्ट्रपति ने भी कह दिया कि जाओ, भारत के साथ बैठकर बात करो, यहां आने की जरूरत नहीं है। रक्षा मंत्री ने कहा कि मैं यकीन दिलाना चाहता हूं कि सरकार रहे न रहे, भारत माता का मस्तक झुकने नहीं देंगे। पाकिस्तान के लोग कहते हैं कि दोनों देशों के बीच बात होनी चाहिए। किस बात पर बात होनी चाहिए? कौन सा मुद्दा है, क्यों बात होनी चाहिए? उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से बात तभी होगी जब वह अपनी धरती से संचालित आतंकवाद को खत्म करेगा। अगर ऐसा नहीं है तो फिर पाकिस्तान से बात करने का कोई कारण नहीं है। राजनाथ ने कहा कि आगे भी जो बातचीत होगी, अब वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर बात होगी। राजनाथ सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय स्वाभिमान के मुद्दों से हमारी सरकार ने समझौता नहीं किया है कि जैसा चल रहा है वैसा ही चलने दें। हमने जो कुछ भी अपने चुनावी घोषणापत्र में कहा था, उसका अक्षरशः पालन कर रहे हैं। भाजपा केवल सरकार बनाने के लिए राजनीति नहीं करती है, वह देश बनाने के लिए राजनीति करती है।

भारत के परमाणु हथियारों पर नजर रखे दुनिया इस्लामाबाद  - पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने अब नया राग छेड़ते हुए भारत के परमाणु जखीरे की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से इस पर गंभीरता से विचार करने को कहा है। भारत के खिलाफ अपने गैर-जिम्मेदाराना बयानबाजी को जारी रखते हुए उन्होंने यह तक कह डाला कि भारत एक कट्टर हिंदू विचारधारा और नेतृत्व के कब्जे में है, जैसे कि जर्मनी नाजियों के कब्जे में था और दुनिया को इसके परमाणु हथियारों पर नजर रखनी चाहिए।