Tuesday, June 02, 2020 10:55 AM

पानी को तरसे 30 परिवार

नेरवा - पिछले दो महीने से चल रहे लॉकडाउन के कारण कई सरकारी कार्य भी लटक गए हैं। इस वजह से आम लोगों को परेशानी से दो चार होना पड़ रहा है। तहसील कुपवी की बावत पंचायत के ग्युंचर और सैंज खड्ड गांव को पेयजल आपूर्ति करने वाली ग्वायनाला,  ग्युंचर,  सैंज खड्ड पेयजल योजना के टेंडर नहीं लग पाने की वजह से इन गांव के तीस घरों में पेयजल संकट बुरी तरह गहरा गया है।  बरु राम शर्मा, मोहर सिंह राणा, भीम सिंह, सुरेश कुमार, अजय पाल, धर्मेंदर कुमार, मनोज कुमार, विकास चौहान, रिंकू, मान सिंह, किरपा राम, चेत राम, नरेश कुमार, कुब्जा देवी, बबली देवी, पूजा कुमारी, चतर राणा एवं राकेश गांववासियों ने बताया कि इन दो गांव के लिए दो पेयजल योजनाएं बनाई गई है। पहली पेयजल योजना भरनाला नाला पेयजल योजना डेढ़ साल चलने के बाद क्षतिग्रस्त हो चुकी है, जबकि 2018 में निर्मित ग्वायनाला पेयजल योजना गत वर्ष 18 अगस्त को आई बाढ़ में पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुकी है।  गांववासी विभाग, प्रशासन से लेकर सरकार तक इस योजना को पुनः शुरू करने की गुहार लगा चुके है, परंतु नौ माह बीत जाने पर भी यह योजना शुरू नहीं हो पाई है। सहायक अभियंता सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य उपमंडल कुपवी दिनेश सकलानी ने बताया कि गांववासियों को फिलहाल प्लास्टिक की पाइप से एक एक घंटा पेयजल उपलब्ध करवाया जा रहा है।  लॉकडाउन समाप्त होने अथवा सरकार के दिशा निर्देश आने पर शीघ्र ही इस योजना के टेंडर लगाकर उक्त गांव को पेयजल उपलब्ध करवा दिया जाएगा।