Monday, July 22, 2019 02:07 PM

पानी प्योर…दूध मिलावटी

एक ब्रांड को छोड़कर पैक्ड दूध भी उत्तम, हलवाइयों की लाल रंग की चटनी हानिकारक

हमीरपुर—पेयजल को लेकर आज हर कोई चिंतित रहता है कि जिस पानी को वे रोजाना पी रहे है, वह पीने लायक है भी कि नहीं। शायद यही वजह है कि आज लगभग सभी घरों में अपनी-अपनी हैसियत के हिसाब से वाटर प्यूरीफाई लोगां ने लगाए हैं। हमीरपुर के लोग भी यदि रोजाना इस्तेमाल किए जाने वाले पानी को लेकर चिंतित रहते हैं, तो वे चिंता छोड़ दें, क्योंकि जिस पानी को वे रोजाना पी रहे हैं वह किसी भी तरह से हानिकारक नहीं हैं। यूं कहें तो शहर में सप्लाई होने वाला पानी शुद्ध है। फूड एंड से टी डिपार्टमेंट की ओर से बुधवार को की गई पानी के सैंपलों की जांच के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। एक तरह से आईपीएच महकमे को पानी की शुद्धता के लिए 100 नंबर फूड एंड से टी डिपार्टमेंट की ओर से दिए गए हैं। वहीं, उन सैकड़ों शहरियों के लिए बुरी खबर यह है कि जिस दूध को वे रोजाना लोगों से खरीदते हैं, वह मिलावटी है। दूध के विभिन्न सैंपलों की जांच के बाद इसमें पानी की मात्रा काफी पाई गई है। बता दें कि हमीरपुर शहर में गाय का दूध कहीं 40 रुपए, कहीं 45 तो कहीं 50 रुपए प्रति लीटर बेचा जाता है। वहीं, भैंस का दूध 50 रुपए प्रति लीटर है। उनके लिए जरूर अच्छी खबर है जो बाजारों से पैक्ड दूध लाते हैं। पैक्ड दूध को जांच में सही पाया गया है। इसमें केवल एक ब्रांड मिलावटी पाया गया है। शहर में पैक्ड दूध की बात करें तो सात के करीब ब्रांड की रोजाना यहां सप्लाई आती है। इसके साथ ही हलवाई की दूकानों में समोसों व टिक्की आदि के साथ जिस लाल रंग की चटनी को लोग चटकारे लगाकर खाते हैं, वह भी सेहत के लिए काफी नुकसान दायक पाई गई है। जूस के शौकीन उन लोगों के लिए अच्छी खबर है जो पतंजलि का जूस पीते हैं। फूड एंड से टी डिपार्टमेंट की जांच में इस जूस को सही पाया गया है। गौरतलब है कि फूड एंड से टी डिपार्टमेंट की ओर से हमीरपुर के जिलाभर में विभाग द्वारा विभिन्न सैंपलों की निःशुल्क जांच की जा रही है। इसमें लोग घर से दूध, पानी आदि किसी भी तरह के सैंपल लाकर उसकी जांच कर तसल्ली कर सकते हैं।