Tuesday, October 15, 2019 09:34 AM

पीएफ पर बढ़ा ब्याज

वर्ष 2018-19 के लिए 8.65 फीसदी के हिसाब से लाभ

नई दिल्ली - कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के छह करोड़ से अधिक सदस्यों के लिए खुशखबरी है। सरकार ने त्योहारी सीजन से पहले पीएफ पर ब्याज दर में वृद्धि को मंजूरी दे दी है। वित्त वर्ष 2019-19 के लिए 8.65 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। ईपीएफओ के लिए निर्णय लेने वाले शीर्ष निकाय सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज ने पिछले वित्त वर्ष के लिए इस साल फरवरी में 8.65 फीसदी ब्याज दर को मंजूरी दी थी। इसके बाद प्रस्ताव को मंजूरी के लिए वित्त मंत्रालय के पास भेजा गया था। संतोष गंगवार ने यहां एक कार्यक्रम के बाद मीडिया से कहा कि फेस्टिवल सीजन से पहले, ईपीएफ के छह करोड़ से अधिक सदस्यों को 2018-19 के लिए जमा राशि पर 8.65 फीसदी ब्याज मिलेगा। वर्तमान में ईपीएफओ खातों में दावों का निपटान 8.55 प्रतिशत की ब्याज दर पर किया जा रहा है। यह दर 2017-18 के दौरान लागू थी। 2017-18 में मिला ब्याज पांच साल में सबसे कम था। 2016-17 में ब्याज दर 8.65 प्रतिशत, 2016-17 में 8.8 फीसदी थी। 2013-14 और 2014-15 में कर्मचारियों को 8.75 फीसदी ब्याज मिला। 2012-13 में 8.5 फीसदी ब्याज दिया गया था।