Tuesday, May 21, 2019 02:05 PM

पुरानी तर्ज पर ही वूसला जाएगा टैक्स

धर्मशाला—नगर निगम धर्मशाला के तीसरे वित्तिय वार्षिक बजट में 77.65 करोड़ पर सोमवार को अंतिम मुहर लग गई। नगर निगम धर्मशाला ने विभिन्न आय के स्त्रोतों से अपनी इनकम बढ़ाने की ओर अधिक ध्यान नहीं दिया है। एमसी क्षेत्र में वसूले जाने वाले टैक्स में किसी भी प्रकार का कोई बढ़ोतरी और बदलाव नहीं किया गया है। शहर में लोगों से वसूले जाने वाले हाउस टैक्स, प्रापर्टी टैक्स, इलेक्ट्रसिटी टैक्स व दुकानों के किराए में भी बढ़ोतरी नहीं की गई है। वहीं, नए क्षेत्रों में भी टैक्स लगाने में अभी एक साल का ओर समय लग सकता है। मई माह में निगम अस्समेंट का कार्य शुरू करेगा, जिससे शहर के पुराने क्षेत्रों के लोगों सहित नए जुड़े क्षेत्रों के लोगों को बड़ी राहत मिली है।  इसके अलावा नगर निगम ने तहबजारी, एनओसी फीस और बिल्डिंग प्लान प्रोसेसिंग फीस में भी कोई बढ़ोतरी नहीं की है। एमसी धर्मशाला पार्किंग फीस, टॉवर चार्जस, मेला मैदान, सेल ऑफ प्रोडक्ट, टेंडर, स्टोर और स्क्रेप की सेल सहित अन्य प्रकार के रेवन्यू भी एकत्रित होंगे। नगर निगम को वर्ष भर में कुल रेवन्यू 25.59 करोड़ की कमाई होगी।

राजस्व कामों पर 23.73 करोड़ होगा खर्च

नगर निगम द्वारा विभिन्न राजस्व स्त्रोतों से होने वाली आय 25.59 को विभिन्न कार्यों में खर्च किया जाएगा। इसके तहत बजट में 23.73 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमार लगाया गया है। इनमें सेलरी बेजस एंड बोनस, अधिकारियों के वेतन, स्टाफ के वेतन, मेडिकल रिमवरसमेंट, पेंशन, डेथ कम रिटायरमेंट ग्रेच्युटी, लीव अनाउसमेंट, स्टाफ रजिडेंस, आफिशियल वार्ड कमेटी आफिस, कम्प्यूटर पर और वार्ड कमेटी में विभिन्न विकासात्मक गतिविधियों के लिए भी बजट का प्रावधान किया गया है।

ये रहे बजट में मौजूद

नगर निगम धर्मशाला के वार्षिक बजट के पारित करने के मौके पर नगर निगम मेयर देवेंद्र जग्गी, उपमहापौर ओंकार सिंह नैहरिया, कमीश्नर संदीप कदम, सहायक आयुक्त प्रभात चौधरी, पार्षद रणधीर सिंह राणा, माया देवी, विमला देवी, तिजेंद्र कौर, रोहित कुमार, सरोज गुलेरिया, सुषमा देवी, अंजू शर्मा, स्वर्णा देवी, विक्रम सुनील खनका, सर्वचंद गलोटिया व मनोनित पार्षद सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी विशेष रूप से मौजूद रहे।