Sunday, August 09, 2020 04:24 AM

पुलिस के हत्थे चढ़ा दुष्कर्म का आरोपी

युवती से दुराचार कर वीडियो वायरल करने का भी आरोप, तीन महीने बाद धरा

गगरेट - शादी का झांसा देकर एक युवती के साथ दुष्कर्म करने और दुष्कर्म की वीडियो वायरल करने के एक मामले में आरोपी की जमानत याचिका जिला एवं सत्र न्यायालय से अस्वीकृत होने के चलते महिला पुलिस थाना ऊना ने आरोपी को करीब तीन माह बाद गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि आरोपी अंतरिम जमानत लेने की आड़ में पुलिस से बचता आ रहा था। जानकारी के अनुसार कोर्ट के माध्यम से गगरेट पुलिस को सौंपी शिकायत में एक युवती ने आरोप लगाया कि आरोपी शुभम ने पहले प्रेमजाल में फंसाया और फिर शादी का झांसा देकर उससे दुष्कर्म किया। इसी बीच उसने युवती के साथ दुष्कर्म करते वीडियो बना ली और बाद में उसे ब्लैकमेल करने लगा। उसने युवती का वीडियो पहले उसके शिक्षण संस्थान और फिर उसके रिहायशी इलाके में भी सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जब युवती को इस बात का पता चला तो उसने पुलिस के पास गुहार लगाने का प्रयास किया, लेकिन आरोपी ने कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए पहले युवती के साथ शादी कर ली और उसके बाद युवती के साथ मारपीट करने लगा । कुछ दिन बाद उसे आरोपी व उसके परिवार ने साथ रखने से इनकार कर दिया। इस पर युवती ने न्यायालय के माध्यम से मामला गगरेट पुलिस थाना में दर्ज करवाया। हालांकि पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर पाती, इससे पहले ही वह अग्रिम जमानत के लिए उच्च न्यायालय की शरण में चला गया और उस समय यह मामला भी गगरेट पुलिस थाना से महिला पुलिस थाना को स्थानांतरित हो गया, लेकिन वहां से अंतिम जमानत याचिका रद्द होने के बाद वह गायब हो गया और पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ रहा था। आरोपी युवक अग्रिम जमानत के लिए सर्वोच्च न्यायालय की शरण में चला गया, लेकिन जब उसे वहां पर भी कोई राहत नहीं मिली, तो आरोपी ने जिला एवं सत्र न्यायालय ऊना में अग्रिम जमानत के लिए याचिका लगाई, लेकिन वहां पर भी आरोपी शुभम परमार की जमानत याचिका खारिज हो जाने के चलते महिला पुलिस थाना ऊना की टीम ने गुरुवार को उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।