Monday, December 16, 2019 05:58 AM

पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा में सामने आई खामियां

नाहन -हिमाचल प्रदेश पुलिस की कांस्टेबल भर्ती में मुन्नाभाई को दबोचने के बाद भले ही प्रदेश सरकार व विभाग ने परीक्षा को रद्द करने की बात कही हो, परंतु रविवार को पुलिस विभाग में ली गई लिखित परीक्षा में कई खामियां अभ्यार्थियों के सामने पेश आई थी। विभाग की लापरवाही परीक्षा के दौरान उस वक्त सामने आई जब कुछ परीक्षार्थियों के प्रश्न पत्र में एक पेज बिलकुल मिसप्रिंट था। यानी उस पृष्ठ पर पांच प्रश्न छपे ही नहीं थे। पुलिस विभाग द्वारा ली जा रही लिखित परीक्षा में कुल 80 प्रश्न थे। जानकारी के मुताबिक नाहन स्थित परीक्षा केंद्र में एक परीक्षार्थी के पास डी-सीरिज का प्रश्न पत्र था। उस प्रश्न पत्र में कुल 80 प्रश्नों में से पांच प्रश्न क्रमांक संख्या 76 से 80 तक गायब थे। प्रश्न पत्र की यह स्थिति जहां अभ्यार्थियों को असमंजस में डाले हुए थी, वहीं विभाग की कार्यप्रणाली भी सवालों के घेरे में आ गई है कि आखिरकार इतने बड़े पुलिस विभाग द्वारा प्रदेश स्तर पर करवाई जा रही पुलिस कांस्टेबल की लिखित परीक्षा में खामियां किस प्रकार रह गई। प्रश्न पत्र में दूसरी कमी यह भी अभ्यर्थियों को सामने आई कि पुलिस की लिखित परीक्षा के पश्न पत्र केवल हिंदी मीडियम में ही छापे गए थे, जबकि इस परीक्षा में सैकड़ों अभ्यार्थी ऐसे थे जो मीडियम इंग्लिश से पढ़ाई कर चुके हैं या कर रहे हैं। मीडियम इंग्लिश के अभ्यर्थियों को लिखित परीक्षा में हिंदी के प्रश्न पत्र होने के कारण कई शब्दों का पूर्ण रूप से पता नहीं चल पाया, जिसके चलते वह भी अपने प्रश्न पत्र पूरी तरह से हल नहीं कर पाए। हिमाचल प्रदेश पुलिस की ग्राउंड परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यार्थियों ने हिमाचल प्रदेश सरकार व पुलिस विभाग से मांग की है कि भविष्य में लिखित परीक्षा में प्रश्न पत्रों का विशेष ध्यान रखा जाए तथा लिखित परीक्षा के प्रश्न पत्र अंग्रेजी व हिंदी दोनों माध्यम में प्रिंट करवाकर परीक्षा केंद्र में वितरित किए जाएं। गौर हो कि रविवार को हिमाचल प्रदेश पुलिस विभाग की कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा प्रदेश भर के सैकड़ों परीक्षा केंद्रों में ली गई थी।