Sunday, September 22, 2019 06:59 AM

पौंग बांध विस्थापितों को दिलवाएंगे हक

नूरपुर -उपायुक्त राहत एवं पुनर्वास राजा का तालाब अश्वनी सूद ने बुधवार को अपने कार्यालय में कार्यभार संभाल लिया है। पौंग बांध विस्थापितों के लिए बेहद महत्त्वपूर्ण इस कार्यालय का कार्यभार संभालने के बाद उपायुक्त राहत एवं पुनर्वास अश्वनी सूद ने पत्रकारों को बताया कि पौंग बांध विस्थापितों की समस्याएं हल करना व शेष पात्र विस्थापितों को राजस्थान में मरब्बे लॉट करवाना उनकी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि पौंग बांध विस्थापित अपनी समस्याओं को लेकर उनसे कार्यालय में मिल सकते है और उनका प्रयास रहेगा कि उनकी समस्याएं जल्द से जल्द हल हो। उन्होंने कहा कि पौंग बांध बनने से लगभग 20722 परिवार प्रभावित हुए थे और इसमें लगभग 16352 परिवारों को पात्र विस्थापित परिवार माना गया, जिन्हें राजस्थान में मुरब्बे देने थे। उन्होंने बताया कि अभी तक लगभग 12027 विस्थापित परिवारों को राजस्थान में मुरब्बे एलॉट हुए थे और 4325 परिवार बचे थे। उन्होंने बताया कि इन एलॉट मुरब्बे में से राजस्थान सरकार ने लगभग 4018 मुरब्बे खारिज कर दिए थे। उन्होंने बताया कि आज तक लगभग 8009 विस्थापित परिवारों के मुरब्बे  बहाल हो चुके है और लगभग 7155 विस्थापित परिवारों को मुरब्बे  अलॉट किए जाने है। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि पौंग विस्थापितों की समस्याएं हल की जाए, जिसमें कई विस्थापितों को राजस्थान में मुरब्बे नहीं मिले है और कईयों को वहां सही जगह पर  मुरब्बे नहीं मिले है । उन्होंने कहा कि वह पौंग बांध विस्थापितों की समस्याओं का सही ढंग से अवलोकन कर उन्हें एडिशनल चीफ  सेकेट्री रेवन्यू के समक्ष रख कर प्रदेश सरकार से आग्रह करेंगे कि राजस्थान सरकार से यह मामला उठा कर शेष पौंग बांध विस्थापितों को  मुरब्बे दिलाए व उनकी अन्य समस्याओं को हल किया जाए। गौरतलब है कि अश्वनी सूद 1997 में राजस्व विभाग में तहसीलदार बने थे और बाद में एसडीएम नूरपुर, बैजनाथ, भटियात व  जयसिंहपुर में सेवाएं दे चुके हैं।  अब उपायुक्त राहत एवं पुनर्वास राजा का तालाब नियुक्त हुए है। इस अवसर पर उन्होंने अपने कार्यालय के अधिकारियों से बैठक कर पौंग बांध विस्थापितों के पेंडिंग केसों के बारे में जानकारी ली और उन्हें कार्यों में तेजी लाने के दिशा-निर्देश दिए।