Monday, September 24, 2018 02:43 PM

पौंग विस्थापितों को गंगानगर में दें जमीन

पंडोह, थुनाग— पौंग विस्थापितों को राजस्थान सरकार से उनका हक दिलाने की दिशा में प्रयास कर रही, लेकिन राज्यस्थान सरकार ने इसमें प्रदेश सरकार के सामने पेंच फंसा दिया है, लेकिन प्रदेश सरकार सरकार पौंग विस्थापितों को जल्द ही उनका हक दिलाएगी। यह बात सीएम जयराम ठाकुर ने मंडी जिला के पंडोह में पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में कही। जयराम ठाकुर ने कहा कि राजस्थान सरकार के साथ प्रधान सचिव स्तर की वार्ता हो चुकी है और बहुत सी बातों को लेकर सहमति बन गई है। अब सीएम स्तर की वार्ता शेष है। जयराम ठाकुर ने बताया कि राजस्थान सरकार पौंग विस्थापितों को जैसलमेर में जमीन देना चाहती है, लेकिन हिमाचल गंगानगर में जमीन की मांग कर रहा है। उन्होंने बताया कि जैसलमेर की जमीन रेगिस्तान है और और गंगानगर की जमीन उपजाऊ है। जयराम ठाकुर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने हिमाचल के हक में फैसला सुनाया है और इसके तहत हिमाचल राजस्थान सरकार से अपना हक लेकर रहेगा। उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी बातों पर सहमति बनाकर पौंग विस्थापितों को उनका हक दिला दिया जाएगा। जयराम ठाकुर ने बताया कि राज्य सरकार राजस्थान सरकार द्वारा आईटी के क्षेत्र में किए जा रहे बेहतर कार्यों का निरीक्षण करके आई है और इस तकनीक को प्रदेश में इस्तेमाल करने की दिशा में प्रयास किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राजस्थान में निचले स्तर के पुलिस कर्मी से कोई भी कोताही होने पर उसका सीधा संदेश डीजीपी तक चला जाता है और कार्रवाही होती है।  इसके अलावा  मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं को  बेहतर चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करने के लिए कृत है। सीएम बगश्याड़ में पोषाहार सप्ताह के अवसर पर संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने  गिंभर राम को पारंपरिक वाद्य यंत्र के निर्माण के लिए तथा राज्य कला भाषा एवं संस्कृति विभाग की गुरु- शिष्य परंपरा योजना के अंतर्गत लकड़ी की नक्काशी के लिए काष्ठकला प्रशिक्षण केंद्र सिराज के इंद्र सिंह को सम्मानित किया। इसके अतिरिक्त पांच शिष्यों को उक्त दोनों विधाओं के लिए सम्मानित किया। इसमें इन्हें एक वर्ष के लिए 3000 रुपऐ प्रतिमाह,जबकि विद्यार्थियों को 1000 रुपए प्रतिमाह मानदेय प्रदान किया जाएगा।  देर शाम उन्होंने लंबाथाच नलवाड़ मेले के समापन समारोह के दौरान मेले को जिला स्तरीय दर्जा देने का ऐलान किया। इस अवसर पर उनकी धर्मपत्नी डा. साधना ठाकुर, सांसद राम स्वरूप शर्मा, विधायक राकेश जंबाल, मिल्क फेडरेशन के चेयरमैन निहाल चंद शर्मा, उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर और पुलिस अधीक्षक गुरुदेव चंद शर्मा सहित कई अन्य लोग उपस्थित रहे।