Friday, December 13, 2019 07:09 PM

प्रथम विश्व युद्ध के रणबांकुरों को ‘सेल्यूट’

 नंगल जरियालां में वीर सपूतों को नमन, चीफ गेस्ट मेजर जनरल डढवाल ने शहीदों को अर्पित किए श्रद्धासुमन 

घनारी  -प्रथम विश्व युद्ध में अदम्य साहस का परिचय देने वाले उपमंडल गगरेट के नंगल जरियालां गांव के वीर सपूतों की याद में बनाए गए शहीद स्मारक पर सोमवार को एक भव्य समारोह का आयोजन कर इन वीर सपूतों की शहादत को सलाम किया गया। इस समारोह में मेजर जनरल डढवाल ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत कर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। पूर्व सैनिक निगम के पूर्व सीएमडी कर्नल मोहिंद्र सिंह ने बताया कि प्रथम विश्व युद्ध में रायल ब्रिटिश आर्मी का सहयोग करने के लिए नंगल जरियालां गांव से ही 78 रणवांकुरे गए थे और इनमें से छह ने शहादत का जाम पिया था। उनकी याद में ही गांव में इस स्मारक का निर्माण किया गया है ताकि गांववासी इन बहादुर रणबांकुरों को याद रख सकें। उन्होंने बताया कि इन्हीं से प्रभावित होकर नंगल जरियालां गांव के कई वीर जवान भारतीय सेना में जाकर देश सेवा कर रहे हैं और इसी के चलते नंगल जरियालां गांव को सैनिकों का गांव भी कहा जाता है। उन्होंने बताया कि आज ही के दिन इन रणबांकुरों की शहादत को याद करते हुए ब्रिटिश सरकार ने यहां एक स्मारक का निर्माण करवाया था, लेकिन यह स्मारक पुराना होने के कारण क्षतिग्रस्त हो गया था और गांववासियों ने पिछले साल यहां इन रणबांकुरों की याद में इस स्मारक का निर्माण करवाया है। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष यहां पर भंडारे का भी आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर कै. श्रीराम, रवि जरियाल, सूबेदार रंजीत सिंह, कैप्टन कश्मीर, सेवानिवृत्त प्रिंसीपल भूमि चंद, ज्ञान सिंह, हरबंस लाल, वीरेंद्र, रंजीत सिंह, सूबेदार चमेल सिंह, कै. गुरदयाल, कै. सुखदेव, अर्जुन सिंह, राज कुमार, सेवानिवृत्त सीनियर मैनेजर बद्री जरियाल सहित कई पूर्व सैनिक मौजूद थे।