Monday, June 01, 2020 01:44 AM

प्रवासी मजदूरों की सुध लो

-विक्रम ठाकुर, गुम्मा, शिमला

इन दिनों लॉकडाउन के चलते जो प्रवासी मजदूर बेरोजगार हो गए हैं, सरकार को जल्द से जल्द उनकी सुध लेनी चाहिए। रोजगार न रहने की वजह से अब ये प्रवासी मजदूर अपने-अपने घरों को लौटने के लिए विवश हो गए हैं। घरों को लौटने के लिए परिवहन व्यवस्था पुख्ता न होने के कारण भी उन्हें कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। अब यह भी स्पष्ट होता जा रहा है कि ये प्रवासी मजदूर अब अपने-अपने राज्यों में ही रहना चाहेंगे। इसलिए राज्य सरकारों को इनके लिए रोजगार के पर्याप्त अवसर पैदा करने होंगे। अपने पुराने कार्यस्थलों पर लौटने से इन मजदूरों ने इंकार कर दिया है। केंद्र सरकार को भी इन मजदूरों के लिए कोई डायरेक्ट बेनेफिट स्कीम लानी चाहिए।