Friday, December 06, 2019 10:03 PM

प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में धर्मपुर फर्स्ट

धर्मपुर स्कूल में आयोजित खंड स्तरीय प्रतियोगिता में नॉन मेडिकल में जीता खिताब

धर्मपुर(सोलन) -राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धर्मपुर में खंड स्तरीय विभिन्न विषयों से संबंधित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस प्रतियोगिता में विभिन्न स्कूलों ने भाग लिया। प्रतियोगिताओं का आयोजन बीआरसीसी कार्यालय के सौजन्य से किया गया। इस मौके पर स्कूल प्रधानाचार्य  डा. सुनील कुमार पाल ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में 10वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों ने भाग लिया। कक्षा 12वीं में सभी संकाय के छात्र-छात्राओं ने भाग लेकर स्कूल का नाम रोशन किया है। नॉन-मेडिकल संकाय में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धर्मपुर प्रथम, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कसौली द्वितीय तथा तृतीय स्थान पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चामिया रहा है। इसी तरह मेडिकल ग्रुप में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुबाथू प्रथम तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धर्मपुर द्वितीय व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कसौली ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। वाणिज्य संकाय प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में छह टीमों  ने भाग लिया। इसमंे राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धर्मपुर प्रथम, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्र) सुबाथू दूसरे व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चमिया के छात्र तीसरे स्थान पर रहे। कला संकाय में 11 विद्यालयों ने प्रतिस्पर्धा में भाग लिया। इसमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुबाथू प्रथम, द्वितीय स्थान राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्रा) सुबाथू व तृतीय स्थान पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला देलगी रहा। उधर, दसवीं कक्षा के छात्रों ने भी इस प्रतिस्पर्धा में बढ़ चढ़कर भाग लिया व 15 विद्यालय इस प्रतियोगिता में उतरे। इसमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला धर्मपुर ने प्रथम स्थान, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला प्राथा दूसरे और तीसरे स्थान पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला देलगी रहा। कार्यक्रम के अंत में सभी विजेता टीमों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धर्मपुर के प्रधानाचार्य डा. पाल ने कहा कि इस प्रकार के आयोजन से विद्यार्थियों के अंदर विभिन्न प्रकार की जानकारियां मिलती है, जो कि भावी जीवन में कार्य करती है। इस प्रकार की प्रतियोगिता में विद्यार्थियों को बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए।