Tuesday, August 20, 2019 11:55 AM

फिंगर प्रिंट से हो परीक्षा केंद्र में एंट्री

लिखित परीक्षा प्रणाली में सुधार की उठाई मांग

धर्मशाला -हिमाचल प्रदेश में पहली बार परीक्षा प्रणाली में हुए बड़े घोटाले ने राज्य भर के सालों से मेहनत करने वाले छात्रों, उम्मीदवारों और शिक्षाविदों को हिलाकर रख दिया है। इसके चलते अब प्रदेश में पारदर्शी एवं निष्पक्ष परीक्षा करवाने के लिए लिखित परीक्षा प्रणाली में बड़े सुधार की मांग उठने लगी है, जिसके तहत उम्मीदवारों की सही जांच के लिए आधार कार्ड के तहत फिंगर प्रिंट के आधार पर ही लिखित परीक्षा के लिए प्रवेश प्रदान किया जाना चाहिए। अब उम्मीदवारों को अन्य कई परीक्षाओं में भी गड़बड़झाले होने का खतरा सताने लगा है, जिससे मेधावी छात्र व तैयारी करने वाले उम्मीदवार घबरा गए हैं। सामान्य माने जाने वाली कांस्टेबल लिखित परीक्षा में चले हथकंडों से समस्त प्रदेश में दहशत का माहौल बना है। इसमें सबसे बड़ा खतरा सभी को यह सता रहा है कि सामान्य परीक्षा में पास होने को ही इतने बड़े स्तर का गिरोह कार्य कर रहा था, तो बड़ी परीक्षाओं का क्या हाल होगा? हिमाचल प्रदेश पुलिस कांस्टेबल पदों की लिखित परीक्षा में बड़े गिरोह का महाघोटाला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तक पुलिस ने 18 आरोपियों को हिरासत में ले लिया है, जबकि आधा दर्जन से अधिक आरोपियों से कड़ी पूछताछ व जांच चल रही हैं। वहीं गिरोह से जुड़े हुए मास्टरमाइंड व उनके साथ अब तक पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं।