Tuesday, November 30, 2021 07:57 AM

फेस्टिवल सीजन... शहर के बाजार में बढ़ा अतिक्रमण, राहगीर परेशान

सिटी रिपोर्टर-शिमला शिमला शहर के लोअर बाजार में रोजाना बढ़ता अतिक्रमण हादसे को न्योता दे सकता है। त्योहारी सीजन के दौरान दिनों बाजारों में काफी भीड़ है और महिलाएं भी करवाचौथ को लेकर खूब खरीददारी कर रही है। करवाचौथ के लिए व्यापारियों ने एक्स्ट्रा स्टाक मंगवा कर रखा है। वहीं तहबाजारियों ने भी दुकानों में अधिक सामान भर रखा है। ऐसे में अगर अग्निकांड की घटना घटती है तो बड़ा नुकसान होने की आशंका है। त्योहारी सीजन में बाजार में अग्निकांड का खतरा बढ़ जाता है। हर बार हादसों से सीख न लेते हुए निगम प्रशासन तैयारियों पर शिकंजा नहीं कस रहा है। इसका खामियाजा व्यापारियों या आम जनता को भुगतना पड़ सकता है। बाजार में इन दिनों चलने की जगह भी नहीं रह गई है। सड़क के दोनों ओर दुकानों के बाहर तहबाजारी ही दिखते हैं।

इससे बच्चों और बुजुर्गो को पैदल चलने में मुश्किल आती है। अगर यहां पर आगजनी की घटना होती है, तो बाजार में अग्निशमन वाहन को पहुंचने में भी काफी देर हो सकती है। आमतौर पर अग्निशमन विभाग की ओर से समय-समय पर अग्निशमन वाहन को बाजार से गुजारा जाता है, लेकिन इन दिनों अगर वाहन को मॉकड्रिल करवा कर बाजार से गुजारा जाए, तो बाकी दिनों की तुलना में दोगुना समय लग सकता है। वहीं निगम प्रशासन तहबजारियों पर शिकजां कसने का दावा तो करता है, लेकिन इन दिनों निगम भी तहबजारियों पर ढील बरत रहा है। इसके अलावा बाजार में बिजली की तारों का जाल भी हादसों को न्योता दे रहा है। बजार में लटकी बिजली की तारों से कई बार लोअर बाजार, लक्कड़ बाजार सहित सब्जी मंडी में भी हाल ही में अग्निकाड हो चुके हैं, लेकिन सालों से इनकी दशा सुधारने के लिए प्रशासन कोई कदम नहीं उठा रहा है। लिोअर बाजार, मिडल बाजार में घरों की छतों पर बिजली, केबल और टेलीफोन की तारें लटकी हैं। इससे हर समय हादसे का खतरा बना रहता है।