Saturday, September 21, 2019 04:28 PM

बड़सर के छह गांवों में ब्लैकआउट

12 घंटे से लोगों का उमस से बुरा हाल, जाग कर काटनी पड़ी पूरी रात

बिझड़ी -भीषण गर्मी व उमस भरे माहौल के बीच अगर पूरी रात बिना बिजली के काटनी पड़े तो लोगों की परेशानियों को  भली-भांति समझा जा सकता है। बिना बिजली के जब पंखें नहीं चले तो पांच से छह गांवों के लोगों को पूरी रात जाग कर या करवटें बदल कर काटनी पड़ी है। मामला उपमंडल बड़सर की घघोट पंचायत के गुत्याना, बटाना, बडडू, अप्पर व लोअर घंघोट आदि गांवों का है। ग्रामीणों का कहना है कि दिन में भी बिजली की आंख-मिचौनी लगातार चलती रही, लेकिन फिर देर शाम एक बार गई लाइट सुबह तक वापस नहीं आई। पूरी रात छोटे बच्चे व बुजुर्ग गर्मी व उमस भरे माहौल में बिलखते व तड़पते रहे हैं। सुमित, मोनू, सरला देवी, परवीन, सतीश कुमार, सुभाष, मीना कुमारी, जसपाल व सुशील का कहना है कि अघोषित कटों के कारण कई बार उन्हें परेशानियां उठानी पड़ती हैं।  वहीं, बिझड़ी क्षेत्र में भी  विद्युत कट से लोगों को परेशान होना पड़ा है। सूत्रों की माने तो बड़सर के पास चीड़ के पेड़ गिरने के कारण पोल टूट जाने से सप्लाई बाधित हुई है। मंगलवार सुबह 9:40 पर कहीं और से सप्लाई लेकर सप्लाई बहाल की गई है, जबकि पोलों को खड़ा करके लाइन को दुरुस्त किया जा रहा है। अधिशाषी अभियंता वतन सिंह ने बताया कि चीड़ के पेड़ गिरने के कारण सप्लाई बाधित हुई है। सुबह सप्लाई बाइपास कर बहाल की गई है। कर्मचारी पोल खड़ा करके शाम तक लाइन को भी चालू कर देंगे।