Tuesday, March 31, 2020 01:04 PM

बड़ी चूक… शिमला-बिलासपुर मंडी क्रॉस कर बजौरा पहुंची गाड़ी

कुल्लू-हिमाचल लॉकडाउन होने के बाद एक वाहन शिमला से  जिला कुल्लू के प्रेवश द्वार तक कैसे पहुंचा। इससे शिमला, बिलासुपर और मंडी जिलों की सुरक्षा व्यवस्था पर एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया। वाहन चालक और वाहन में सवार एक युवती पुलिस को झूठी सूचना देकर जिला कुल्लू में प्रवेश कर रहे थे। उक्त तीनों जिलों की पुलिस ने गंभीरता से वाहन की चैकिंग क्यों नहीं की, इस गंभीर स्थिति के बीच सुरक्षा व्यवस्था की पोल खुल गई है। कुल्लू की जनता ने यह सवाल उठाए हैं। बिना कारण और झूठी सूचना देकर वाहन चालक और युवती यहां क्यों आ रहे थे, यह एक चर्चा का विषय बना हुआ है। यही नहीं, अब शातिर चालकों ने हिमाचल लॉकडाउन होने के बावजूद सरकार के फरमान को धत्ता दिखाना आरंभ कर दिया है। हिमाचल लॉकडाउन के बाद सड़कों पर मुस्तैद पुलिस को विभागों का कर्मचारी बता गुमराह करने के प्रयास का हत्थकंडा चालकों ने अपनाना शुरू कर दिया है, ताकि उन्हें ऐसा कहने पर छोड़ दें। ऐसा हत्थकंडा अपनाकर गाडि़यों में शराब की पेटियां की सप्लाई की जा रही है। शातिर चालकों के इन दोनों हत्थकंडों का खुलासा जिला कुल्लू पुलिस की सख्त मुस्तैदी ने नाकाबंदी के दौरान किया है। महामारी की इस स्थिति में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ पुलिस ने आईपीसी की धारा 188 और 269 के तहत जांच शुरू कर दी है। कुल्लू पुलिस ने हिमाचल लॉकडाउन की अधिसूचना जारी होने के कुछ घंटों बाद ही ऐसे चालकों पर नुकेल कसनी आरंभ कर दी है। बता दें कि सोमवार को राज्य सरकार ने हिमाचल लॉकडाउन किया है। वहीं, इसी रात को शिमला के एक व्यक्ति और एक युवती वाहन में सवार होकर कुल्लू आ रहे थे। एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि जिला कुल्लू के प्रवेशद्वार बजौरा के पास उनकी भुंतर पुलिस थाना की टीम ने नाकाबंदी के दौरान एक आल्टो कार को रोका और उसकी चैकिंग की, जिसमें दो व्यक्ति बैठे थे। पुलिस ने इनसे पूछताछ की गई और पता लगाया गया कि वे कहां से आए हैं। पूछताछ के दौरान यह खुलासा दोनों लोग पुलिस को झूठी सूचना देकर गुमराह करके कुल्लू जिले की सीमा में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे। एसपी ने बताया कि वाहन में जीत राम निवासी शिमला और शिमला की ही एक युवती सवार थे। यह पुलिस को झूठी सूचना देकर यहां क्यों और किस लिए पहुंचे इसकी गहनता से पूछताछ चल रही है। पुलिस  ने इनके खिलाफ भुंतर थाना में धारा 188, 269, 270 आईपीसी, 51 डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं, उपमंडल बंजार में सोमवार को एक और कारनामा वाहन चालक का सामने आया। चालक अपने वाहन की डिक्की में सुबह-सबेरे ही रॉयल स्टैग की पेटी ले जा रहा था। किसी विभाग का कर्मचारी बनकर यह इस अवैध कार्य सड़क पर उतरा था, लेकिन इसका यह प्रयास तब धाराशाही हुआ जब डीएसपी बंजार बिन्नी मिन्हांस स्वयं हिमाचल लॉकडाउन   को सड़क पर खड़े थे। गाड़ी जब रोकी तो पहले डीएसपी को यह बताता गया कि घेरलू सामान लेने गया था, जब बारी-बारी से ड्राइविंग सीट, ड्राइविंग सीट के पीछे सीट की तलाशी कर डीएसपी डिक्की तक जांच करते हुए पहुंचे तो वहां पर रॉयल स्टैग की पेटी बरामद हुईं। डीएसपी ने तुरंत पेटी, वाहन को कब्जे में लिया। डीएसपी बिन्नी मिन्हांस ने बताया कि चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आगामी कार्रवाई जारी है। एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि पुलिस सभी वाहनों की बारीकी से चैकिंग कर रही है और जो वाहन बिना कारण सड़क पर दौड़ रहे हैं, उन पर कार्रवाई की जा रही है।