Thursday, July 16, 2020 07:02 PM

बद्दी की महिला चंडीगढ़ में हुई कोरोना पॉजिटिव

बीबीएन-औद्योगिक क्षेत्र बद्दी के तहत कैलाश बिहार की एक महिला चंड़ीगढ़ में कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। उक्त महिला का 23 मई को चंडीगढ़ के सेक्टर 16 स्थित अस्पताल में कोरोना का टेस्ट हुआ था, जिसकी रिपोर्ट सोमवार दोपहर आई जिसमें उसके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उक्त कोरोना संक्रमित महिला ने रविवार को ही एक बेटी को भी जन्म दिया है। महिला व नवजात बच्ची चंड़ीगढ़ के सेक्टर 16 स्थित अस्पताल में उपचाराधीन हैं और अस्पताल में डाक्टर दो दिन की मासूम बच्ची व उसकी मां का पूरा खयाल रख रहे है। फिलवक्त बद्दी से चंडीगढ़ गई महिला के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद जहां क्षेत्र में दहशत का माहौल है वहीं प्रशासन ने हरकत में आते हुए कैलाश बिहार रेजिडेंशियल सोसायटी को एहतियातन सेनेटाइज करते हुए सील कर दिया है। इसके अलावा महिला के संपर्क में आए छह परिवारजनों सहित सीएचसी बद्दी के ड्यूटी स्टाफ व 108 एबुंलेंस के कर्मियों सहित करीब 10 लोगों को प्राइमरी कांटैक्ट मानते हुए होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक उक्त 20 वर्षीय महिला गर्भवती थी और उसे विगत 22 मई की रात को प्रसव पीड़ा हुई जिस  पर उसे सीएचसी बद्दी लाया गया था जहां से उसे प्राथमिक उपचार के बाद चंड़ीगढ़ के सेक्टर 16 स्थित अस्पताल रैफर कर दिया गया। चंड़ीगढ़ के सेक्टर 16 स्थित गवर्नमेंट मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल में महिला ने बीते रविवार को आपरेशन के जरिए एक बेटी को जन्म दिया । उक्त महिला का आपरेशन से पहले 23 मई को कोरोना टेस्ट हुआ था जिसकी रिपोर्ट सोमवार को आई है जिसमें उसके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई। एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने बताया कि बद्दी के कैलाश बिहार की महिला चंडीगढ़ में कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। उक्त महिला ने एक बच्ची को भी जन्म दिया है।  एसपी बद्दी रोहित मालपानी ने बताया कि कैलाश बिहार सोसायटी  में जहां महिला रह रही थी उस पूरी बिल्डिंग को सेनेटाइज करते हुए सील कर दिया गया है,इसके अलावा महिला की कांटैक्ट ट्रेसिंग की जा रही है। शुरुआती पड़ताल में करीब 15 लोग प्राइमरी कांटैक्ट पाए गए हैं। वहीं, बद्दी से बाहर गए लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने का यह सातवां मामला है ।

पिता के साथ अलग वार्ड में शिफ्ट की नवजात

दो दिन की नवजात बच्ची को चिकित्सकों की देख-रेख में पिता के साथ अलग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है, बच्ची व उसकी मां की सुरक्षा का पुरा ध्यान रखा जा रहा है। नवजात बच्ची का भी अगले एक-दो दिन में कोरोना टेस्ट होगा।