Wednesday, August 05, 2020 07:13 PM

बरढ़ी को मिले पीएचसी का दर्जा

 सरयून किसान एवं श्रमिक कल्याण सभा ने उठाई मांग

घुमारवीं-त्यून सरयून किसान एवं श्रमिक कल्याण सभा हरलोग की बैठक बरढ़ी में संपन्न हुई। इसकी अध्यक्षता सभा के अध्यक्ष आशीष ठाकुर ने की। बैठक में क्षेत्र से जुड़ी समस्याओं के बारे में विस्तृत चर्चा की गई। अध्यक्ष आशीष ठाकुर ने बताया कि बैठक में स्वास्थ्य उपकेंद्र बरढ़ी को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तबदील करने के लिए लोगों ने मांग उठाई और सर्वसम्मति से इसके लिए प्रस्ताव पारित किया गया। आशीष ठाकुर ने बताया कि  आठ अक्तूबर 1986 को इस उपकेंद्र का शिलान्यास हुआ था। आज 33 वर्षों का एक लंबा समय बीत जाने के बावजूद इस उपकेंद्र को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तबदील नहीं किया गया है। उन्होंने बताया कि इस उपकेंद्र में प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधा लेने के लिए पाल्टी, बरड़ी, डुगली, निहान, मस्वाड, जुखान, भडोल, भंगलेड़ा, कासी, नरवाली व तुड्डडवी गांवों के लोग पहुंचते हैं। पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र न होने की वजह से लोगों को टैक्सियों का सहारा लेकर हरलोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का रूख करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि इस मांग को लेकर पहले भी कई बार आवाज बुलंद हो चुकी है, लेकिन सरकार ने आज तक इस और कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने बताया कि बरढ़ी स्वास्थ्य उप केंद्र  भवन की स्थिति दिन-प्रतिदिन खस्ता होती जा रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मांग की है कि लोगों की समस्या को प्राथमिकता के आधार पर लेकर जल्द से जल्द इस स्वास्थ्य उपकेंद्र को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा दिया जाए। और जर्जर भवन की मरम्मत के लिए आदेश जारी किए जाएं। इस मौके पर पूर्व बीडीसी सदस्य नागेंद्र चंदेल, रत्न सिंह, कर्म चंद, ओंकार सिंह, बिमला देवी, बर्फी देवी, मीना कुमारी, सुशीला देवी, सारा देवी, सुनीता कुमारी, आशीष चंदेल, मनीष चंदेल, आदित्य चंदेल, रोहित ऋषव धीमान व जतिन सहित अन्य उपस्थित रहे।

The post बरढ़ी को मिले पीएचसी का दर्जा appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.