Monday, September 23, 2019 02:45 AM

बरसात… कृषि विभाग को 20 करोड़ की चपत

ऊना - बरसात के मौसम में इस बार बारिश किसानों के लिए भी कहर बनकर बरपी है। मूसलाधार बारिश के चलते अब तक जिलाभर में कृषि विभाग को करीब 20 करोड़ की चपत लग चुकी है। इसमें मक्की-धान-अदरक के अलावा सब्जियों को भी भारी भरकम नुकसान हुआ है। किसानों की मक्की की फसल और सब्जी उत्पादकों की सब्जियां बारिश के चलते बर्बाद हुई हैं। मूसलाधार बारिश का पानी किसानों के खेतों में एकत्रित होने के चलते किसानों और सब्जी उत्पादकों को नुकसान झेलना पड़ा है। हालांकि कृषि विभाग के अधिकारियों ने उच्च अधिकारियों को अपनी रिपोर्ट प्रेषित कर दी है, लेकिन नुकसान का मुआवजा लेने के लिए वहीं किसान या फिर सब्जी उत्पादक दायरे में आएंगे, जिन्होंने अपनी फसलों की इंश्योरेंस करवाई होगी। वहीं, कृषि विभाग भी अब किसानों के नुकसान की भरपाई करने के लिए जुट गया है, ताकि पात्र किसानों को समय पर मुआवजा मिल सके। कृषि विभाग के अनुसार फसलों को सबसे ज्यादा 14 करोड़ का नुकसान पहुंचा है। इसमें करीब 12 करोड़ मक्की की फसल और दो करोड़ अन्य फसलों को नुकसान है। इसके अलावा सब्जियों को चार करोड़, अदरक को 33 लाख, ओयल सीड्स को 52 लाख का नुकसान हुआ है। एक तरह से किसानों को भारी भरकम नुकसान हुआ है। उल्लेखनीय है कि बरसात के मौसम में अब बेरहम बारिश जिलाभर में करीब 94 करोड़ तक का नुकसान कर चुकी है। इसमें अकेले कृषि विभाग को ही 20 करोड़ का नुकसान झेलना पड़ा है। कृषि विभाग जिला के लोगों की आर्थिकी के साथ भी जुड़ा हुआ है। अधिकतर लोग खेती कर अपने परिवार का पालन-पोषण कर रहे हैं। लेकिन इन किसानों पर अब बरसात का कहर बरपा है। उधर, इस बारे में कृषि विभाग ऊना के उप निदेशक सुरेश कपूर ने कहा कि कृषि विभाग को बारिश के चलते करीब 20 करोड़ का नुकसान पहुंचा है। विभागीय उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट भेज दी गई है।