Monday, September 16, 2019 07:31 AM

बर्बादी की बारिश में बहे आठ करोड़

मूसलाधार बारिश से जिला की 139 सड़कों पर यातायात ठप, जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त    

चंबा -बरसात की बेरहम बारिश के रविवार रात्रि बरपे कहर ने पीडब्ल्यूडी की पिछले दो दिनों की मेहनत पर पूरी तरह पानी फेर दिया है। जिला मंे बीते 12 घंटों के दौरान बारिश से लोक निर्माण विभाग को पौने आठ करोड़ की और चपत लग गई है। रविवार रात को हुई मूसलाधार बारिश से जिला की 139 सड़कों पर फिर से यातायात ठप होकर रह गया है। बारिश के कारण पीडब्ल्यूडी को डलहौजी डिवीजन के भटियात उपमंडल में सर्वाधिक नुकसान उठाना पड़ा है। सोमवार सवेरे बारिश का दौर थमने के साथ ही पीडब्ल्यूडी ने बंद मागों पर यातायात बहाली को दोबारा से युद्धस्तर पर कार्य आरंभ कर दिया है। पीडब्ल्यूडी का दावा है कि सोमवार देर शाम तक चंबा जिला की 98 सड़कों को दोबारा से वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा। जानकारी के अनुसार रविवार देर रात अचानक जिला में मौसम के करवट बदलने से आसमानी गर्जना के साथ मूसलाधार बारिश का दौर आरंभ होने से जगह- जगह भू-स्ख्लन का दौर आरंभ हो गया, जिसके चलते जिला के कई मुख्य व संपर्क मार्ग बंद हो गए। मार्गों पर यातायात ठप होने से कई वाहन बीच राह में फंस गए। सोमवार को पीडब्ल्यूडी के डलहौजी मंडल के 37, चंबा के 28, तीसा के 14, सलूणी के 20, भरमौर के 35 और किलाड़ डिवीजन के पांच मार्ग बारिश के कारण बंद रहे। पीडब्ल्यूडी को रविवार रात की बारिश से सबसे अधिक नुकसान करीब अढ़ाई करोड़ का डलहौजी मंडल में उठाना पड़ा है। समाचार लिखे जाने तक चंबा मंडल के 23 मागांर्ें पर यातायात बहाल भी कर दिया गया था। पीडब्ल्यूडी के अन्य मंडलों में भी काफी हद तक बारिश से बंद मार्गों को खोलकर वाहनों की आवाजाही को सुचारू कर दिया गया था। सोमवार को चंबा- सलूणी व चंबा- तीसा मुख्य मार्ग सहित काफी तादाद में संपर्क मार्ग बंद रहे। इन मार्गों पर पीडब्ल्यूडी ने दोपहर बाद यातायात बहाल करने में सफलता भी हासिल कर ली। उधर, पीडब्ल्यूडी डलहौजी सर्किल के अधीक्षण अभियंता दिवाकर पठानिया ने बताया कि गत बारह घंटों के दौरान ही विभाग को पौने आठ करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है। उन्होंने बताया कि बारिश के कारण बंद 139 में 98 मार्गों को देर शाम तक वाहनों की आवाजाही के लिए खोल भी दिया गया है।