Monday, April 06, 2020 05:42 PM

बागबानों के हितों का ध्यान रखे प्रदेश सरकार

सोलन - भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन एनएसयूआई हिमाचल प्रदेश ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार द्वारा 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन व राज्य सरकार द्वारा लगाए गए कर्फ्यू का समर्थन करते हुए सभी नागरिकों से घरों से बाहर न निकलने की अपील कीद है। एनएसयूआई प्रदेशाध्यक्ष्ा छत्तर सिंह ठाकुर  ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु सरकार द्वारा यह एक बिलकुल सही ठोस कदम उठाया गया है व मानव जाति की रक्षा हेतु इसके परिणाम सकारात्मक होंगे। साथ ही उन्होंने राज्य सरकार व प्रशासन से अनुरोध किया कि वे इस विकट परिस्थिति में सेब बागबानों का भी अन्य सभी वर्गों की भांति विशेष ध्यान रखा जाए। गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश को देश भर में सेब राज्य के नाम से जाना जाता है व सेब यहां की मुख्य नकदी फसल है। आजकल का समय सेब सेटिंग की वजह से बागबानों के लिए अति महत्त्वपूर्ण है और ये समय सेब के बगीचों में कई जरूरी स्प्रे, छिड़काव व खाद आदि के लिए बहुत क्रूशियल पीरियड माना जाता है। ऐसे में कर्फ्यू व लॉकडाउन की स्थिति में पूरे बाजार के साथ ही स्प्रे व खाद की दुकानें भी बंद कर दी गई है। इसके चलते इस साल सेब सीजन को लेकर बागबान बहुत चिंतित है। एनएसयूआई ने प्रदेश सरकार व प्रशासन से सेब बागबानों की इस समस्या को जल्द दूर करने की गुहार लगाई है। प्रदेश संगठन महासचिव मनोज चौहान ने प्रदेश के सभी स्कूल, कालेज व विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं से कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए घरों से बाहर न निकलने की अपील की। मनोज चौहान ने छात्र शक्ति का आह्वान कर कोरोना संक्रमण के खिलाफ इस लड़ाई में छात्रों को अपने परिवार व आस-पड़ोस के लोगों को सरकार द्वारा लॉकडाउन व कर्फ्यू के महत्त्व व इसके पालन करने बारे सजग करने को कहा है।

नेशनल हाई-वे पांच पर दौड़ रही गाडि़यों पर कर्रवाई

सोलन- प्रदेश में कर्फ्यू लागू होने के बाद कालका-शिमला नेशनल हाई-वे पांच पर दौड़ रही गाडि़यों को रोककर धर्मपुर पुलिस ने कार्रवाई की है। यह गाडि़या बुधवार को 12 बजे के बाद हाई-वे पर दौड़ रही थी। इस दौरान इन गाडि़यों को धर्मपुर बाजार में पुलिस द्वारा लगाए गए नाके पर रोककर पूछताछ की गई तो कई वाहनों को वापिस भेजा गया। साथ ही इस कर्फ्यू के बाद घरों से बाहर निकल रहे लोगों को भी पुलिस ने घर भेजा है।