Monday, February 17, 2020 06:57 AM

बारिश की भेंट चढ़ा कच्चा मकान

दौलतपुर चौक -प्रदेश में सरकारें आती हैं और पांच वर्ष के शासनकाल के बाद चली जाती हैं। सरकार किसी की भी हो विकास की गंगा बहने की दुहाई देते-देते नेता थक जाते हंै, फिर भी न जाने क्यों प्रदेश और केंद्र सरकार की जनहितकारी नीतियां आम जनता तक नही पहुंच पाती। न ही समाजसेवा करने की दुहाई देने वाले दानी सज्जन पात्र और गरीब लोगों तक पहुंच पाते हैं। ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है। गगरेट विस क्षेत्र के पिरथीपुर गांव में, जहां एक 70 वर्षीय विधवा का कच्चा मकान शनिवार देर शाम को बारिश के चलते गिर गया, जिससे अब उसके पास सिर छिपाने तक की जगह नहीं बच पाई है। आंखों में आंसू लिए और रुंधे स्वर में कमला बीबी पत्नी स्वर्गीय अतरद्दीन ने बताया कि बुढ़ापे में अब उसके पास सिर छिपाने के लिए भी जगह नहीं बची है। कमला बीबी ने बताया कि उसके पति की मौत काफी वर्ष पहले हो चुकी है, जबकि बेटा अपने बचपन में दुनिया छोड़ गया था। इसके इलावा उसकी दो बेटियां हैं, जो कि ससुराल में है। अब भारी वर्षा के चलते उसका कच्चा पुराना मकान गिर जाने से वह सिर छिपाने  कहां जाए। मकान में रखा जरूरी सामान और अनाज इत्यादि भी दब गया है। कमला बीबी ने प्रशासन से गुहार लगाई है कि उसे शीघ्र वित्तीय सहायता प्रदान की जाए और उसे केंद्र अथवा प्रदेश सरकार की आवास योजना के अधीन शीघ्र मकान बनाया जाए। उधर, ग्राम पंचायत के उपप्रधान केवल सिंह ने बताया कि कमला बीबी के मकान गिरने की सूचना उन्हें मिली है, जिसकी तसदीक हेतु उन्होंने पटवारी से आग्रह किया है ताकि उसे फौरी सहायता दिलाई जा सके। जबकि  नया मकान बनबाने हेतु ग्राम पंचायत पहले ही प्रोपोजल डाल चुकी है और उसे प्रेफरेंस के आधार पर बनाया जाएगा।