Monday, September 16, 2019 08:08 AM

बारिश ने डाइवर्ट करवाया टै्रफिक

भराड़ी -मटौर-शिमला एनएच पर मैड के समीप पुलिया के ध्वस्त होने से जिला प्रशासन ने सारा टै्रफिक दधोल-लदरौर सड़क पर डाइवर्ट कर दिया है। अब समस्या यह है कि इस सड़क की हालत भी कोई ज्यादा ठीक नहीं है। ट्रैफिक का इस मुख्य सड़क पर बढ़ना इस सड़क के लिए भी खतरा बन गया है, क्योंकि कई जगह यहां सड़क काफी संकीर्ण है और एक तरफ  ढांक है, वहीं दूसरी तरफ  जमीन कच्ची है, जिससे गाडि़यों को निकलने में दिक्कतें झेलनी पड़ रही है। मिहाड़ा के पास ये स्तिथि व्य्याप्त है, जहां सोमवार को जब ट्रैफिक बढ़ा तो वहां जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई। गतवाड़ से लेकर लदरौर तक सड़क में पानी की निकासी का उचित प्रबंध नहीं है, जिससे कई जगह से सड़क उखड़ चुकी है। घंडालवीं के पास तो सड़क में कई फुट तक गड्ढे पड़े हैं। इससे वाहन चालकों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। पिछले तीन दिनों से हो रही भयंकर बारिश से जहां कई लोग बेघर हो गए हैं, तो वहीं प्रदेश के कई राज्य मार्गों व राष्ट्रीय मार्गों को भी भारी नुकसान पहुंचा। शिमला-हमीरपुर राष्ट्रीय मार्ग में भी आजकल पुलों के निर्माण को लेकर कार्य चल रहा है। उसी कार्य के तहत तरघेल व मैड के पास पुलों का जो कार्य चला था वहां भारी बरसात के चलते यातायात बाधित हो गया है, जिसके चलते वाहन चालकों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। बहरहाल अब यात्रा करने के लिए केवल एक मात्र सड़क जो दधोल से लदरौर को जोड़ता है उसका सहारा ही प्रशासन के पास बचा है। उधर, लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता शशिकांत शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया की अगर ट्रैफिक डाइवर्ट किया है, तो रोड को तो नुकसान पहुंचेगा ही क्योंकि हैवी ट्रक जब सड़क से गुजरेंगे तब सड़क को नुकसान तो होगा ही साथ ही दधोल पर जो पुल है उसकी क्षमता भी इतनी ज्यादा नहीं है कि वो अत्यधिक ट्रैफिक का बोझ संभाल सकें। उन्होंने बताया कि अधिक ट्रैफिक से सड़क को हानि तो संवाभिक ही है।