Monday, September 23, 2019 02:37 AM

बारिश…सड़क बनी खड्ड

खतरवाड़-पिदड़ता गांव को जोड़ने वाला मार्ग दो महीने से पानी से लबालब, छात्रों को स्कूल जाने में आ रही दिक्कत

भोरंज -सड़कंे ग्रामीण विकास की भाग्य रेखाएं मानी जाती हैं, लेकिन राजकीय प्राथमिक व माध्यमिक पाठशाला खतरवाड़ और पिदड़ता गांव को जोड़ने वाली सड़क दो माह से खड्ड बनी हुई है। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को पंचायत व स्कूल प्रशासन द्वारा स्कूल जाने के लिए सड़क की आ रही समस्या से अवगत करवाने पर भी कोई कार्रवाई नहीं की है। उल्लेखनीय है कि राजकीय प्राथमिक व माध्यमिक पाठशाला खतरवाड़ तक लोक निर्माण विभाग ने सड़क की मेटलिंग की थी। सड़क पर पानी की निकासी की व्यवस्था न होने से सड़क पूरी तरह से उखड़ चुकी है। बारिश होने पर तीन स्थानों पर चार दिनों तक पानी खड़ा रहा है, जिससे स्कूली बच्चों को स्कूल तक पहुंचने के लिए बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई बार बच्चें पानी में गिर रहे हैं। इससे बच्चों की वर्दी भी खराब हो रही है। इसी तरह स्कूल के पास खड़ी उतराई में सड़क पूरी तरह से उखड़ चुकी है। यहां पर स्कूली बच्चे कई बार गिर कर जख्मी हो चुके हैं। यहां पर दोपहिया वाहन व कारें हादसे को न्योता देने जैसा हो गया है। सड़क की खराब दशा होने व पानी का निकासी करने के लिए स्थानीय कनिष्ठ अभियंता से बच्चों के अभिभावकों ने कई बार गुहार लगाई, लेकिन उन्होंने विभाग की सड़क न होने का हवाला देकर इसको हल करने में मना कर दिया है। स्कूल प्रबंधन समिति अध्यक्ष कमलेश कुमार ने स्थानीय विधायक कमलेश कुमारी से मांग की है कि खतरवाड़ स्कूल व पिदड़ता गांव को जोड़ने वाली सड़क को ठीक करने के लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को आदेश दें।

क्या कहती हैं पंचायत प्रधान

टिक्करी मिन्हासा पंचायत प्रधान रेखा ठाकुर का कहना है कि सड़क के लोक निर्माण विभाग के अधीन करने के लिए पंचायत ने प्रस्ताव पारित कर व सड़क की खराब दशा को ठीक करने की लोक निर्माण विभाग से मांग की है, लेकिन अभी तक यह समस्या बनी हुई है। इससे स्कूली बच्चों को बेहद दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

क्या कहते हैं सहायक अभियंता

लोक निर्माण विभाग भोरंज उपमंडल के सहायक अभियंता हरी राम का कहना है कि खतरवाड़ स्कूल व पिदड़ता गांव को जाने वाली सड़क को प्राथमिकता के आधार पर ठीक किया जाएगा, ताकि स्कूली बच्चों को परेशानी न हो।