Friday, February 21, 2020 12:42 PM

बारिश से हिल स्टेशन बना सुजानपुर

सुजानपुर -एक ओर जहां पूरे प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हुआ पड़ा है। हर तरफ  बर्बादी का आलम है, वहीं दूसरी तरफ सुजानपुर शहर में बारिश के बाद कुदरत ने अलग ही छटा बिखेरी है। यही कारण है कि बरसात होने के बाद सुजानपुर शहर सुजानपुर न होकर एक हिल स्टेशन बन गया। यहां पर पहुंचने वाला प्रत्येक नागरिक अपने आपको देश के सबसे खूबसूरत टूरिस्ट पैलेस मसूरी वाली फीलिंग लेकर आनंदित हो रहा है। बताते चलें कि जिस तरह पर्यटन केंद्र मसूरी वहां पर बहने वाला प्राकृतिक झरना जिसे केंपटी फॉल के नाम से जाना जाता है उसी के लिए यह टूरिस्ट प्लेस प्रसिद्ध है। ठीक उसी तरह का एक झरना बरसात होने के बाद सुजानपुर में पहाड़ों के बीच से बहना शुरू हो जाता है। करीब 200 फीट की ऊंचाई से गिरने वाला यह झरना लोगों के आकर्षण का कंेद्र बनता है और न चाहते हुए भी यहां से निकलने वाले लोग यहां पर रुककर सेल्फी लिए बिना नहीं रह पाते हैं। सुजानपुर- पालमपुर मुख्य मार्ग नजदीक बयास नदी के पास ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों के बीच से यह झरना आजकल बह रहा है। पानी की फुहारंे जब 200 फीट की ऊंचाई से जमीन पर पहुंचती हैं, तो इसको देखने का अलग ही नजारा बनता है। आलम यह है कि सुबह से शाम तक इस स्थान पर फोटो सेशन और सेल्फी लेने का सिलसिला लगातार चला रहता है। हालांकि जिस स्थान पर यह प्राकृतिक झरना बह रहा है। वहां पर प्रशासन ने एहतियात के तौर पर चेतावनी बोर्ड भी लगा रखे हैं कि इस स्थान पर रुकना खतरे से खाली नहीं और पहाड़ों से गिरने वाले पत्थरों से लोग अपना बचाव करें, लेकिन इसके बावजूद इस स्थान पर रुकना और फोटो खिंचवाना लोगों की पहली पसंद बना हुआ है। इसके साथ ही ब्यास नदी जो आजकल रूद्र रूप धारण किए हैं वहां पर भी लोग गाडि़यां खड़ी करफोटो खिंचवाने का मजा ले रहे हैं। ऐसे में यह कहना कतई गलत नहीं है कि सुजानपुर आजकल सुजानपुर न हो कर मंसूरी बन गया है।