Saturday, August 15, 2020 01:26 PM

बाहरी कारोबारियों पर रोक

सोलन में कृषि उपज एवं मंडी समिति ने निर्देशों के बाद पहुंचे दो व्यापारियों पर ठोंका जुर्माना

सोलन-कोरोना वायरस के खतरे के दृष्टिगत कृषि उपज एवं मंडी समिति सोलन ने एक कड़ा फैसला लिया है। मंडी समिति ने निर्देश जारी किए हैं कि बाहरी राज्यों का कोई भी व्यापारी मंडी परिसर में नहीं घुस सकेगा। खासतौर पर यह सख्ती तब्लीगी जमात के बाद देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मरीजों को देखते हुए एहतियात के तौर पर लिया गया है। अहम बात यह है कि इन निर्देशों को बाहरी राज्यों के व्यापारियों के साथ भी साझा किया गया है और उन्होंने भी इस बात को माना है कि केवल चालक ही सब्जियां लेकर जाएगा। दूसरी अहम बात यह कि जो भी चालक बाहरी राज्यों से सब्जियां इत्यादी लेकर आएगा, उसे गाड़ी में ही रहना होगा और सब्जियां यहां के आढ़तियों व लदानियों द्वारा स्वयं ही अनलोड कर दी जाएंगी। इन आदेशों की अहवेलना करने पर कृषि उपज एवं मंडी समिति सोलन ने शनिवार को दो व्यापारियों पर शिकंजा कसा और इन पर 500-500 रुपए का जुर्माना भी ठोका। यदि भविष्य में ये दोबारा इन निर्देशों की अहवेलना करते हैं तो इनके खिलाफ जुर्माना बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा मंडी समिति द्वारा उन आढ़तियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी जो मंडी में सब्जियों को परचून मात्रा में बेच रहे हैं और खरीदने वालों पर भी जुर्माना ठोका जाएगा। यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि मंडी परिसर में भीड़ कम हो और परचून में सब्जियां खरीदने वालों की लाइनें न लगें। शनिवार को फल एवं सब्जी मंडी सोलन में सब्जियों की भरमार रही और अधिकांश सब्जियों के दामों में कमी देखी गई। कृषि उपज मंडी समिति के सचिव डा. रविंद्र शर्मा ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए एहतियात के तौर पर ये सारे निर्णय लिए गए हैं। यदि कोई इन निर्णयों की अहवेलना करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। बाहरी राज्यों से आने वाले व्यापारियों पर मंडी परिसर में पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने कहा कि जिस आढ़ती को बाहरी राज्यों से सब्जियां लेकर आनी हैं वे स्वयं के ट्रक वहां भेज सकते हैं।