Tuesday, May 21, 2019 06:03 AM

बिजनेस के लिए अपनाएं ज्वेलरी डिजाइनिंग में करियर

हर कोई खूबसूरत दिखना चाहता है। इसलिए हम किसी पार्टी या फंक्शन आदि में जाने से पहले खूबसूरत कपड़ों के साथ ज्वेलरी पर भी विशेष ध्यान देते हैं क्योंकि  ज्वेलरी फैशन स्टाइल के साथ-साथ आपकी पर्सनेलिटी में भी निखार लाती है। ज्वेलरी का बढ़ता ट्रेंड ही आज युवाओं को इसमें करियर बनाने के लिए आकर्षित कर रहा है, फैशन की दुनिया में कदम रखना चाहते हैं, तो ज्वेलरी डिजाइन आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है। आइए जानते हैं कि कैसे आप इस फील्ड में करियर बना सकते हैं...

क्या है ज्वेलरी डिजाइन

तरह-तरह के गहनों को बनाने की कला को ही ज्वेलरी डिजाइन कहते हैं। गोल्ड, सिल्वर, पर्ल, प्लेटिनम आदि धातुओं को तराशकर उनसे तरह-तरह के गहने बनाए जाते हैं। इसी तरह हाथी दांत, पत्थर, सीप आदि का भी प्रयोग स्टाइलिश ज्वेलरी बनाने में किया जाता है। ज्वेलरी डिजाइनर उन्हें कहते हैं, जो ज्वेलरी की स्टाइल, पैटर्न आदि सेट करते हैं।

शैक्षणिक योग्यता

ज्वेलरी डिजाइन में करियर बनाने के लिए 12वीं पास होना बहुत जरूरी है। इसके बाद आप आगे के कोर्स कर सकते हैं। दसवीं पास वालों के लिए भी ज्वेलरी डिजाइन में बेहतरीन करियर विकल्प है। दसवीं के बाद आप शॉर्ट टर्म कोर्सेस कर सकते हैं। आगे के कोर्स के लिए इच्छुक व्यक्ति को ऐप्टीच्यूड टेस्ट देना पड़ता है। इसके बाद ही आप आगे के कोर्स के लिए आवेदन भर सकते हैं।

प्रमुख संस्थान

* जैमोलॉजी इंस्टीच्यूट ऑफ  इंडिया, मुंबई।

* सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई।

* जैमस्टोन्स आर्टिसन्स ट्रेनिंग स्कूल, जयपुर।

* इंडियन जैमोलॉजी इंस्टीच्यूट, नई दिल्ली।

* जैम एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल, जयपुर।

* नेशनल इंस्टीच्यूट ऑफ  फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली।

* ज्वेलरी डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीच्यूट, नोएडा।

* एसएनडीटी यूनिवर्सिटी, मुंबई।

जॉब ऑप्शंस

* ज्वेलरी-डिजाइनर

* प्रोडक्ट डिवेलपमेंट ऑफिसर

* मर्केडाइजर

* सेल्स एंड मार्केटिंग प्रोफेशनल

* कंसल्टेंट

* कैड-डिजाइनर

* रिसर्चर

रोजगार के अवसर

ज्वेलरी डिजाइन में आगे बढ़ने के लिए बहुत स्कोप है। कोर्स करने के बाद आप फुल टाइम किसी कंपनी के साथ जुड़कर काम शुरू कर सकते हैं। ज्वेलरी डिजाइन हाउस, एक्सपोर्ट हाउस, फैशन हाउस आदि जगहों पर आप काम शुरू कर सकते हैं। इसके साथ ही अगर आप आर्थिक रूप से मजबूत हैं, तो आफिस-कम होम से भी काम शुरू कर सकते हैं। घर से काम शुरूकरने के कई फायदे होते हैं। घर के काम के अलावा आप अपने करियर को भी संवार सकते हैं। इतना ही नहीं दिन में किसी आफिस में काम करके आप घर पर पार्ट टाइम इस काम को जारी रख सकते हैं। आप अगर किसी कंपनी से फुल टाइम नहीं जुड़ना चाहते तो फ्रीलांस के तौर पर काम शुरू कर सकते हैं। उदारीकरण के बाद भारत के इस उभरते सेक्टर को एक नया आयाम मिला है। दरअसल, जमोलॉजी के क्षेत्र में दबदबा रखने वाली दुनिया की बडी-बडी कंपनियां भारत में तेजी से अपनी शाखाएं खोल रही हैं। कहते हैं, जिस सेक्टर में जितनी तेजी से विकास होता है, उसे और विकसित करने के लिए ट्रेंड प्रोफेशनल्स की जरूरत अनिवार्य रूप से होती है। इस लिहाज से देखें, तो जेम्स एंड ज्वेलरी सेक्टर भी अछूता नहीं रहा है, जहां आज भारी संख्या में ट्रेंड प्रोफेशनल्स की जरूरत महसूस की जा रही है। जहां तक इस क्षेत्र में उपलब्ध संभावनाओं की बात है, जेमोलॉजी का कोर्स कर लेने के बाद आपको प्राइवेट एक्सपोर्ट हाउसेज, ज्वेलरी डिजाइनिंग एंड कटिंग फर्म्स और इससे जुड़ी कंपनियों में काफी आकर्षक जॉब मिल सकते हैं। इसके अलावा, यदि आप अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो संबंधित क्षेत्र में अनुभव और कौशल प्राप्त करने के बाद अपनी खुद की रिटेल, होलसेल या ज्वेलरी-शॉप्स खोल कर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं।

पर्सनल स्किल

ज्वेलरी डिजाइन में करियर बनाने के लिए सबसे पहले इस क्षेत्र के प्रति लगाव और ज्वेलरी डिजाइन का सेंस होना बहुत जरूरी है। इसके साथ ही क्रिएटिव, कल्पनाशील, न्यू ट्रेंड का सेंस, फैशन सेंस आदि के साथ मेहनती होना बहुत आवश्यक है। ज्वेलरी डिजाइन में करियर बनाने की सोच रहे हैं, तो धैर्य को अपना साथी बना लें। इस काम में ईमानदारी भी बहुत जरूरी होती है। खासतौर पर अगर आप किसी गोल्ड, डायमंड जैसी धातुओं से ज्वेलरी बनाने में लगे हैं, तो थोड़ी सी भी लापरवाही आपके व्यक्तित्व पर प्रश्न चिह्न लगा सकती है। ग्लोबल मार्केट और फैशन के प्रति रुचि होना बहुत जरूरी है।

सैलरी

पढ़ाई के तुरंत बाद किसी कंपनी में जॉब लगने पर शुरुआत में 7 से 8 हजार रुपए प्रति माह आप कमा सकते हैं। अनुभव के साथ इस क्षेत्र में आप उम्मीद से ज्यादा कमा सकते हैं। अनुभव होने पर 18 से 20 और फिर इसी तरह आगे बढ़ते रहते हैं। प्रसिद्ध ज्वेलरी डिजाइनर महीने का लाख रुपए भी लेते हैं।

क्या हैं कोर्सेज

ज्वेलरी डिजाइन में करियर बनाने के लिए डिप्लोमा, डिग्री या सर्टीफिकेट कोर्स कर सकते हैं।

सर्टिफिकेट कोर्सेज

बेसिक ज्वेलरी डिजाइन

डायमंड आइडेंटीफिकेशन एंड ग्रेडिंग

कैड फॉर जेम्स एंड ज्वेलरी

कलर्ड जेमस्टोन आइडेंटिफिकेशन

डिग्री कोर्सेज

बीएससी इन ज्वेलरी डिजाइन

बैचलर ऑफ  ज्वेलरी डिजाइन

बैचलर ऑफ  एक्सेसरीज डिजाइन

मास्टर्स डिप्लोमा इन ज्वेलरी डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी

डिप्लोमा कोर्सेज

डिप्लोमा इन ज्वेलरी डिजाइन एंड जैमोलॉजी

एडवांस ज्वेलरी डिजाइन विद कैड

ज्वेलरी मैनुफैक्चरिंग

कोर्स के दौरान

तेजी से बढ़ते इस क्षेत्र की डिमांड लोगों को इसमें करियर बनाने के लिए आकर्षित कर रही है। ज्वेलरी डिजाइन कोर्स के दौरान अलग-अलग पत्थरों, ज्वेलरी बनाने में कलर कॉम्बिनेशन, डिजाइन थीम, प्रेजेंटेशन, फ्रेमिंग, कॉस्ट्म ज्वेलरी आदि सिखाया जाता है।

तकनीकी शिक्षा

ज्वेलरी डिजाइन कोर्स के दौरान कम्प्यूटर एडेड ज्वेलरी सॉफ्टवेयर, जैसेः ज्वेल कैड, ऑटो कैड, 3 डी स्टूडियो आदि के बारे में टेक्निकल नॉलेज भी दिया जाता है। इसके साथ ही फोटोशॉप, कोरल ड्रॉ, वेट एंड मेटल कम्पोजिशन के बारे में भी बताया जाता है।