Monday, September 16, 2019 07:32 AM

बिजली विभाग कार्यशैली सुधारे

-किशन सिंह गतवाल, सतौन, सिरमौर

हिमाचल प्रदेश का विद्युत विभाग कई बातों के लिए सदैव चर्चा में रहता है। कभी अनाप-शनाप बिल थमा कर उपभोक्ताओं के होश फाख्ता करता है तो कभी कई-कई महीनों के बड़े बिल देकर रातों की नींद उड़ा देता है। वास्तव में कई महीनों के एक मुश्त बिलों से बार-बार की कलेक्शन की जहां झंझट समाप्त होती है वहीं बढ़ी खर्च यूनिट पर खूब टैरिफ का लाभ मिलता है, दूसरे माह के अंतिम सप्ताह में उपभोक्ताओं से जुर्माने की अच्छी कमाई होती है, एक पुल से टैक्स कलेक्शन पूरी होने पर टैक्स बंद हो जाता है, लेकिन बिजली विभाग मीटर का टैक्स बीसियों और फुटकर टैक्स के साथ उपभोक्ताओं से जीवन भर वसूलता है और वह कभी न पूरा होता न बंद होता, आजकल मीटर की कीमत तो एक निश्चित अवधि में पूरी हो जानी चाहिए, पर जो जीवन पर्यंत जारी रहती है, उतना ही नहीं उपभोक्ताओं को लगातार कट लगाकर परेशान किया जाता है। संक्षेप में कहा जा सकता है कि उपभोक्ताओं की दिक्कतों को कम किया जाना चाहिए और बिल मासिक जारी व ग्रहण किए जाएं।