Tuesday, July 14, 2020 09:38 PM

बिजली संशोधन कानून का विरोध

राज्य विद्युत परिषद कर्मचारी यूनियन ने काले बिल्ले लगाकर किया प्रदर्शन

हमीरपुर-राष्ट्रीय समन्वय समिति अभियंता एवं कर्मचारी के आह्वान व हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत परिषद कर्मचारी यूनियन की केंद्रीय कार्यकारिणी के दिशा-निर्देशों के अनुसार हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत परिषद कर्मचारी यूनियन, इकाई हमीरपुर द्वारा भी केंद्र सरकार के बिजली कानून 2003 में किए जाने वाले संशोधनों के विरोध में एक जून को कर्मचारियों ने काले बिल्ले लगाकर विरोध जताया। हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत परिषद कर्मचारी यूनियन इकाई हमीरपुर के प्रधान सुशील कुमार ने बताया कि इन संशोधनों के सबसे ज्यादा दुष्प्रभाव इस प्रदेश के विद्युत उपभोक्ताओं पर पड़ेंगे। इन संशोधनों से क्रॉस सबसिडी के खत्म हो जोने से जहां घरेलू उपभोक्ताओं की बिजली दरों में कई गुना बढ़ोतरी होगी वहीं डीबीटी प्रक्रिया के चलते विद्युत उपभोक्ताओं को निर्धारित दरों पर ही बिजली बिलों का भुगतान करना पड़ेगा। सबसिडी की राशि बाद में खाते में डाली जाएगी। इसके साथ-साथ सब लाइसेंसी व फ्रेंचाइजी ज्यादा राजस्व वाले क्षेत्रों में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करेंगे, जहां से विद्युत बोर्ड को राजस्व आता है। विद्युत बोर्ड के पास केवल दूरदराज के क्षेत्रों के घरेलू उपभोक्ता ही रह जाएंगे और क्रॉस सबसिडी खत्म हो जाने के बाद विद्युत उपभोक्ताओं को निर्धारित दरों पर ही बिजली बिलों का भुगतान करना पड़ेगा। इस कारण 18 हजार कर्मचारियों के वेतन भुगतान व 25 हजार के लगभग पेंशनर्ज की पेंशन की अदायगी करने में परेशानी आएगी। कर्मचारियों की अन्य सेवा शर्तों पर भी विपरीत प्रभाव पड़ेगा। बिजली कानून 2003 का संशोधन राज्य विद्युत परिषद कंपनी, कर्मचारी, पेंशनर्ज व उपभोक्ता विरोधी हैं इसलिए हम सब को एकजुट होकर इस काले कानून के खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी।

The post बिजली संशोधन कानून का विरोध appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.