Friday, October 18, 2019 11:11 AM

बिना अनुमति नई भर्ती या नया कोर्स शुरू नहीं

सरकार के नए फरमान ने बांधे तकनीकी विश्वविद्यालय के हाथ

हमीरपुर - स्थापना के बाद से लगातार हाशिए पर चल रहे हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय ने अब चलना शुरू किया था, तो सरकार के नए फरमानों ने इसके हाथ बांध दिए हैं। प्रदेश सरकार की ओर से जारी किए गए नए फरमानों के अनुसार टेक्निकल यूनिवर्सिटी प्रबंधन न ही अपनी मर्जी से किसी भी तरह की भर्ती यूनिवर्सिटी में कर पाएगा और न ही यूनिवर्सिटी सहित अन्य मान्यता प्राप्त कालेजों में कोई नया कोर्स शुरू कर सकेगा। यूनिवर्सिटी को अब हर काम को करने से पहले सरकार से अप्रूवल लेनी होगी। यूं कहें तो ऑटोनॉमस बॉडी एक सरकारी विभाग बनकर रह जाएगा। विदित रहे कि वर्ष 2009-10 में हिमाचल तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में स्थापित हुआ था। अभी यह विश्वविद्यालय खड़ा हो ही रहा था कि वर्ष 2012 में प्रदेश में सरकार बदल गई और बीजेपी सरकार द्वारा स्थापित इस यूनिवर्सिटी में कांग्रेस सरकार ने कोई रुचि नहीं दिखाई। अब एक साल से यूनिवर्सिटी में काफी कुछ नया हो रहा है। यूनिवर्सिटी का नया भवन बनकर तैयार हो गया है। इस सेशन से कई नए कोर्सेज शुरू किए गए हैं। यूनिवर्सिटी में अटल चेयर स्थापित की गई है और अंबेडकर और गांधी चेयर स्थापित करनी भी प्रस्तावित हैं। यूनिवर्सिटी ने अपने स्तर पर कई बड़ी कंपनियों के साथ एमओयू साइन किए हैं ताकि यहां से निकलकर जाने वाले बच्चों को सीधे नौकरी मिल सके। ऐसे में सरकार की ओर से जारी किए फरमान समझ से परे हैं। वैसे ही एचपीटीयू को आज तक आर्थिक मदद के नाम पर सरकार से एक पैसा नहीं मिल पाया है। सेल्फ फाइनांस पर चल रही यह यूनिवर्सिटी अपने खर्चों को खुद मैनेज कर रही है।

ऐसे तो सरकारी विभाग बन जाएगा विश्वविद्यालय

एक्ट के मुताबिक एचपीटीयू एक ऑटोनोमस बॉडी है। यूनिवर्सिटी की बेहतरी और छात्रों की सुविधा के हिसाब से विश्वविद्यालय बीओजी और एकेडमिक काउंसिल की रजामंदी से नए लोगों की भर्ती कर सकता है, वहीं यूनिवर्सिटी व इससे मान्यता प्राप्त कालेजों में नए कोर्स शुरू करवा सकता है। जब डायरेक्ट सरकार का कंट्रोल इस पर होगा तो यह तकनीकी विश्वविद्यालय एक सरकारी विभाग बनकर रह जाएगा।

डीएलएड की काउंसिलिंग 15 अक्तूबर से

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला ने दो वर्षीय डिप्लोमा इन एलिमेंटरी एजुकेशन - 2019 सत्र 2019-2021 के लिए सरकारी डाइट एवं निजी मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिए दूसरे चरण की प्रक्रिया बोर्ड मुख्यालय धर्मशाला में करवाई जाएगी। काउंसिलिंग 15 से 22 अक्तूबर तक प्रातः 10 बजे से पांच बजे तक आयोजित करवाई जा रही है। चयनित अभ्यार्थियों की तिथिबार सूची बोर्ड की बेवसाइट पर अपलोड कर दी गई है। अभ्यार्थी अधिक जानकारी के लिए दूरभाष नंबर 01892-242192 पर भी संपर्क कर सकते हैं। 

जेबीटी की परीक्षा 14 नवंबर से

प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा जेबीटी व डीईएलडी 2017-19 के अनुत्तीर्ण परीक्षार्थियों की परीक्षा और 2018-20 के नियमित परीक्षार्थियों के साथ ही दिनांक 14 से 26 नवंबर तक सांयकालीन सत्र दो से पांच बजे तक संचालित की जाएगी। शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डा. सुरेश कुमार सोनी ने इसकी पुष्टि की है।