Sunday, January 26, 2020 09:02 PM

बिना टोकन रेहड़ी लगाई तो खैर नहीं

नालागढ़ -नालागढ़ शहर में अब अवैध रूप से रेहड़ी-फड़ी लगाने वालों की खैर नहीं और परिषद इनके खिलाफ जल्द शिकंजा कसने जा रही है। परिषद द्वारा जारी किए गए रेहडि़यों के टोकनों की जहां जांच होगी व इनके रिन्यू न करने की स्थिति पर कार्रवाई होगी, वहीं आवश्यकता के अनुरूप रेहडि़यों के नए टोकन जारी होंगे। परिषद के मुताबिक नए टोकन जारी करने पर यह शर्त रहेगी कि संबंधित रेहड़ी एक जगह पर खड़ी न होकर शहर में घूमती विचरती रहे। इसके लिए परिषद जल्द ही बैठक में इस मुद्दे को लेकर विचार-विमर्श करेगी और शहर में अतिक्रमण न हो और जारी किए गए टोकनों की जांच सहित नए टोकन जारी करने पर निर्णय लेगी। जानकारी के अनुसार परिषद ने शहर में बढ़ती रेहडि़यों की भरमार देखते हुए निर्णय लिया है कि पुराने जारी किए गए टोकनों की नए सिरे से जांच होगी, वहीं उनके रिन्यू और अन्य आवश्यक दस्तावेजों की जांच करेगी। परिषद का कहना है कि लोगों की जरूरतों को देखते हुए रेहडि़यों के नए टोकन भी जारी होंगे, लेकिन यह टोकन सशर्त जारी होंगे कि जिस रेहड़ी को टोकन दिया जाएगा, वह एक स्थान पर खड़ा न होकर, अपितु शहर के हर गली वार्ड में जाकर अपने उत्पाद लोगों को पहुंचाए। शहर में बढ़ रहे अतिक्रमण को देखते हुए परिषद ने अब शहर में चल रही रेहडि़यों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्णय ले लिया है। नगर परिषद जल्द ही इस संबंध में विशेष बैठक का आयोजन करने जा रही है, जिसमें रेहडि़यों संबंधी प्रस्ताव पारित होकर अमलीजामा पहनाया जाएगा। बताते हैं कि परिषद ने रेहड़ी-फड़ी के करीब 52 टोकन जारी कर रखे हैं। इन रेहड़ी वालों ने शहर के बाजारों में अपने स्थान चयनित कर रखे है, जिससे शहर में अतिक्रमण तो बढ़ता ही है, वहीं लोगों को चलने फिरने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बताया जाता है कि परिषद द्वारा जारी टोकनों के अलावा इससे अधिक रेहडि़यां शहर में लग रही हैं, जिससे परिषद को तो चूना लग ही रहा है, वहीं अतिक्रमण को भी बढ़ावा मिल रहा है। परिषद ने इन बातों को ध्यान में रखते हुए इन पर कड़ी कार्रवाई करने की ठानी है और नए टोकन न जारी करने का मन बनाया है। नगर परिषद अध्यक्ष नीरू शर्मा ने कहा कि शहर में बढ़ रहे अतिक्रमण को देखते हुए रेहडि़यों के परिषद द्वारा जारी किए गए टोकनों का जहां रिव्यू होगा, वहीं नए टोकन सशर्त जारी होंगे। उन्होंने कहा कि बिना टोकन पाई जाने वाली रेहडि़यों के खिलाफ परिषद द्वारा कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी और शहर में अतिक्रमण किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।