Sunday, January 17, 2021 12:55 PM

बिना पानी सूखने लगे धान के खेत…किसानों की चिंता बढ़ी

मंडी-आखिर कब बरसेगा अंबर, बिना पानी के धान की फसल नष्ट हो जाएगी। हे, भगवान करदे बारिश की मेहर, ताकि बच जाए धान की फसल-यह चिंता इन दिनों मंडी जिला के किसानों का सता रही है। जिला में बिना पानी के धान की फसल के खेत सूख चुके हैं। अगर आगामी कुछ दिनों में बारिश नहीं हुई, तो किसानों की चिंताएं और अधिक बढ़ जाएंगी। बरसात और सावन माह के दौरान मौसम की बेरुखी ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया है, जबकि इन दिनों धान की फसल के खेत पानी से भरे रहते थे, जिसके चलते धान के पौधों की ग्रोथ होती थी। मंडी जिला में धान की फसल की बिजाई की बात करें, तो इस वर्ष धान की बिजाई करीब 900 क्विंटल से अधिक रही, जबकि गत वर्ष 500-700 क्विंटल रहती थी। कोरोना काल में लॉकडाउन के चलते मंडी जिला में गत वर्ष के मुकाबले लोगों ने अधिक बिजाई की है। हिमाचल किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष सुंका राम ठाकुर, प्रदेश महासचिव सीता राम वर्मा, जिला अध्यक्ष भूप सिंह, महासचिव दुनी चंद शर्मा व बल्ह खंड के सचिव मेहर चंद ठाकुर, बग्गी क्षेत्र से हंसराज ठाकुर, राजकुमार शर्मा, देसराज, पवन कुमार, दीनानाथ, बलद्वाड़ा से रुलिया राम, संदीप कुमार सहित अन्य का कहना है कि इन दिनों धान की फसल को बारिश की काफी जरूरत है। बारिश न होने से खेतों में नमी कम होती जा रही है। इससे धान की फसल सूखने के कगार पर है। इस बारे में कृषि विभाग मंडी के उपनिदेशक डा. कुलदीप वर्मा का कहना है कि इस बार बारिश काफी कम हो रही है, लेकिन मौसम विभाग के अनुसार आगामी कुछ दिनों में भारी बारिश होने का अनुमान है। इससे धान की फसल को फायदा हो सकता है।

The post बिना पानी सूखने लगे धान के खेत… किसानों की चिंता बढ़ी appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.